वंशानुगत रोग क्या होता है?

By Raj Vimal|Updated : August 31st, 2022

वह बीमारियाँ जो माँ या पिता के दोषपूर्ण जीन के कारण ही स्थानातरण होती हैं, वंशानुगत बीमारी कहलाती है। यह बीमारी एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जाते रहते है। ऐसे रोग जीन उत्परिवर्तन तथा पर्यावरणीय कारक सहित कुछ अन्य प्रभाव के कारण होता है। ऐसे वंशानुगत प्रमुख रोगों के उदाहरण हैं- मधुमेह, एनिमिया इत्यादि। ऐसे बीमारियाँ जन्म से ही शुरू होती हैं।

वंशानुगत रोगों के नाम

  • सनक
  • मिर्गी
  • अल्पबुद्धिता
  • बहरापन
  • गूँगापन

वंशानुगत रोगों से कैसे बचें?

सामान्य रूप से होने वाले नवजात बच्चे को जरुरी टेस्ट और मेडिकल उपचार से ही बचाया जा सकता है। इसके अलावा अगर किसी को बीमारी हो चुकी है तो उससे बचने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

  • चिकित्सक से परामर्श लें
  • संतुलित आहार लें
  • लगातार शरीर की जाँच करवाएं।
  • व्यायाम करें।
  • सफाई का ध्यान रखें।

Summary

वंशानुगत रोग क्या होता है?

वंशानुगत रोग उन रोगों को कहते हैं जो जन्म के साथ बच्चों को माँ और पिता के द्वारा मिलती हैं। इन रोगों में मधुमेह, कम दिखना, कैंसर आदि प्रमुख हैं। अधिकतर वंशानुगत बीमारियाँ जानलेवा होती हैं लेकिन उचित उपचार से इस पर काबू पाया जा सकता है।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates