प्रतिस्थापन अभिक्रिया किसे कहते हैं?

By Raj Vimal|Updated : September 7th, 2022

रसायन शास्त्र की वह अभिक्रिया जिसमें किसी योगिक के अणु का एक परमाणु या परमाणुओं का समूह बिना परिवर्तन के विस्थापित हो जाये, वह प्रतिस्थापन अभिक्रिया कहलाती है। प्रतिस्थापन अभिक्रिया को अंग्रेजी में Substitution Reaction कहते हैं।

प्रतिस्थापन अभिक्रिया का उदहारण

“प्रतिस्थापन” जैसा की नाम से ही स्पष्ट है किसी वस्तु या तत्व को उसके स्थान से हटाने का बोध हो रहा है।

उदाहरण के लिए 2Na + 2H2O → 2NaOH + H2। इस अभिक्रिया का उपयोग रासायनिक व्यापार में बहुत होता है।

इससे उल्ट रसायन शास्त्र में योगात्मक अभिक्रिया (Addition Reactions) होती है। जहाँ ऐसी अभिक्रियाएँ होती हैं, जिनमें दो या दो से अधिक पदार्थ संयोग करके केवल एक पदार्थ बनाते हैं। उदाहरण के लिए जब सल्फर को हवा की उपस्थिति में जलाते हैं तो सल्फर डाईऑक्साइड गैस निकलती है।

Summary

प्रतिस्थापन अभिक्रिया किसे कहते हैं?

वैसे रासायनिक अभिक्रिया (Chemical Reaction), जहाँ अभिकारक के परमाणु को विस्थापित कर उसकी जगह अन्य परमाणु आ जाते हैं उसे विस्थापन अभिक्रिया कहते है। इसे विस्थापन अभिक्रिया भी कहते हैं।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates