ओपेरोन क्या है?

By Raj Vimal|Updated : September 12th, 2022

ऑपेरॉन एक जिन्स को नियंत्रण में रखने का सेट होता है जो हमारे शरीर के कोशिकाओं के भीतर चयापचय और अनुवांशिकता के नियन्त्र के लिए जिम्मेदार होता है। इससे जुड़ा सिद्धांत वर्ष 1961 में जैकब एवं मोनोड ने दिया था। इनके ओपेरोन मॉडल सिद्धांत के अनुसार ओपेरोन नियंत्रक जीन और संचालक जीन का समूह होता है।

संरचनात्मक जीन क्या होते हैं?

संरचनात्मक जीन उन जीनों को कहते हैं जो जीन और प्रोटीन के लिए कोड करते हैं। कोशिकाओं के भीतर भी एंजाइम उत्पन्न कर के देना भी इन संरचनात्मक जीनो का ही कार्य है। वैज्ञानिकों के अनुसार, संरचनात्मक जीनों पर अध्ययन ओपेरोन और लैक ओपेरोन जीनों के बाद सबसे अधिक होता है। 

Summary

ओपेरोन क्या है?

ओपेरोन जीनों के समूह को कहते हैं, जिसकी परिकल्पना सर्व प्रथम जैकब और मोनाड ने किया था। वह ई-कोलाई बक्टेरिया से जुड़े अपने प्रयोगों पर कार्य कर रहे थे। ओपेरोन का कार्य होता है कोशिकाओं के भीतर मेटाबोलिज्म और अनुवांशिक नियंत्रण रखना।

Related Articles

Comments

write a comment

Follow us for latest updates