फेहलिंग अभिकर्मक किसे कहते हैं?

By Raj Vimal|Updated : September 8th, 2022

कॉपर सल्फेट (CuSO4) के क्षारीय घोल में सोडियम पोटैशियम टारट्रेट (KNaC4H4O6·4H2O) का मौजूद होना, फेहलिंग अभिकर्मक कहते हैं। इसक रंग नीला होता है। मुख्य रूप से इसका इस्तेमाल डायबिटीज की लैब में जांच करने के दौरान मानव मूत्र में ग्लूकोज की मौजूदगी का पता लगाने के लिए किया जाता है।

अभिकर्मक क्या होता है?

अभिकर्मक एक यौगिक होता है, जो एक केमिकल रिएक्शन या परीक्षण का वजह बनने के लिए एक प्रणाली में जोड़ा जाता है। इसके बाद ही कोई रासायनिक प्रतिक्रिया पूरी हो पाती है।

फेहलिंग अभिकर्मक का उपयोग

  • कीटोन और एल्डीहाइड समूह के बीच के फर्क को समझने के लिए।
  • फेहलिंग अभिकर्मक का उपयोग माल्टोडेक्ट्रीन और स्टार्च का ग्लूकोज के विघटन में किया जाता है।
  • मानव के स्वास्थ्य जाँच में (डायबिटीज की टेस्टिंग)।

Summary

फेहलिंग अभिकर्मक किसे कहते हैं?

फेहलिंग अभिकर्मक, कॉपर सल्फेट के साथ पोटेशियम टाईट्रेट और सोडियम के क्षारिक घोल कहलाता है। रसायनशास्त्र में इसकी बड़ी महत्वपूर्ण महत्ता है। इसका उपयोग न सिर्फ रासयनिक प्रयोगों में बल्कि मेडिकल क्षेत्र में भी किया जाता है।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates