पुडुचेरी किस उच्च न्यायालय के अंतर्गत आता है?

By Sakshi Yadav|Updated : August 10th, 2022

पुडुचेरी मद्रास उच्च न्यायालय के अंतर्गत आता है। तमिलनाडु राज्य और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी दोनों ही मद्रास उच्च न्यायालय के क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र में आते हैं। इसकी स्थापना वर्ष 1862 में हुई थी और यह चेन्नई शहर में स्थित है। मद्रास में मद्रास उच्च न्यायालय (स्था. 1862), बंबई में बंबई उच्च न्यायालय (स्था. 1862), कलकत्ता में कलकत्ता उच्च न्यायालय (स्था. 1862), इलाहाबाद में इलाहाबाद उच्च न्यायालय (स्था. 1866) और बैंगलोर में बंगलौर उच्च न्यायालय (स्था. 1884) भारत के पांच सबसे पुराने उच्च न्यायालय हैं। भारत में कुल 25 उच्च न्यायालय हैं| 

पुडुचेरी उच्च न्यायालय

पुडुचेरी मद्रास उच्च न्यायालय के अधिकार क्षेत्र में आता है| दिल्ली, जो की केंद्र शाषित प्रदेश है उसका अपना उच्च न्यायालय है जिसे दिल्ली उच्च न्यायालय कहा जाता है। मद्रास उच्च न्यायालय का अधिकार क्षेत्र तमिलनाडु और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी पर है। पांडिचेरी, जिसे आधिकारिक तौर पर पुडुचेरी के नाम से जाना जाता है, पुडुचेरी के भारतीय केंद्र शासित प्रदेश की राजधानी और सबसे अधिक आबादी वाला शहर है।

अनुच्छेद 214 के अनुसार भारत के प्रत्येक राज्य में उच्च न्यायालय का होना अनिवार्य है। हालाँकि, अनुच्छेद 231 में यह भी उल्लेख है कि दो या दो से अधिक राज्यों या दो या दो से अधिक राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के लिए एक सामान्य उच्च न्यायालय हो सकता है।

Summary:

पुडुचेरी किस उच्च न्यायालय के अंतर्गत आता है?

मद्रास उच्च न्यायालय के अंतर्गत पुडुचेरी आता है। मद्रास उच्च न्यायालय भारत का तीसरा सबसे पुराना उच्च न्यायालय है। यह चेन्नई, तमिलनाडु में स्थित है और इस उच्च न्यायालय के अंतर्गत पुडुचेरी भी शामिल है। मद्रास उच्च न्यायालय की स्थापना 15 अगस्त 1862 को हुयी थी| 

Related Questions:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates