परावर्तन के नियम लिखिए?

By Raj Vimal|Updated : September 6th, 2022

प्रकाश के परावर्तन का अर्थ है कि जब किसी दर्पण में आप अपना चेहरा देखते हैं तो उसे देखने के लिए आपको अपना चेहरा प्रकाश में लाना पड़ता है। चेहरे से प्रकाश टकराकर जब दूसरी तरफ में लौट जाता है, यह क्रिया प्रकाश का परावर्तन कहलाती हैं। प्रकाश के परावर्तन दो नियम हैं, जो निम्नलिखित है।

 प्रकाश के परावर्तन दो नियम

  • आपतित किरण (Incident Ray), परावर्तित किरण (Reflected Ray) तथा आपतन बिंदु (Point of Incidence) पर खींचा गया अभिलम्ब तीनों एक ही तल या सतह पर होते हैं।
  • हमेशा परावर्तन कोण (Angle of Reflection) तथा अपवर्तन कोण (Angle of Refraction) बराबर होते हैं।

प्रकाश का परावर्तन भौतिक शास्त्र का एक महत्वपूर्ण विषय है, जिससे जुड़े वस्तुनिष्ठ सवाल सामान्यत: सरकारी नौकरियों के परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

Summary

परावर्तन के नियम लिखिए?

प्रकाश का परावर्तन के दो मुख्य नियम हैं, जिसके अनुसार ही प्रकाश की किरणें प्रदर्शन करती हैं। आपतित किरण, प्रवर्तित किरण और आपतन बिंदु ही इन नियमों के मुख्य तत्व हैं। इसके अलावा उपरोक्त नियम के अनुसार परावर्तन कोण और आपतन कोण बराबर होते हैं।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates