किसने कुषाण वंश की स्थापना की थी?

By Sakshi Yadav|Updated : September 1st, 2022

कुजुला कडफिसेस I ने कुषाण वंश की स्थापना की थी। कुजुला कडफिसेस ने कुषाण वंश की स्थापना की थी। उनकी मृत्यु के बाद कडफिसेस II या विमा कडफिसेस कुषाण साम्राज्य के उत्तराधिकारी बाने थे। कहा जाता है की विमा कडफिसेस ने सोने के सिक्के जारी किए जो उसके राज्य के धन और समृद्धि को दर्शाते थे। 

  • कुषाण साम्राज्य के मुख़्य तथ्य 
  • भारत में कुषाण साम्राज्य का आधार स्थापित करने वाला पहला युएझी प्रमुख कुजुला कडफिसेस था।
  • काबुल, कंधार और अफगानिस्तान पर उसका मुख़्य शासन था। 
  • उनके पुत्र विमा ताक्तु, जिन्होंने उत्तर पश्चिम भारत में साम्राज्य का विस्तार किया, उनके उत्तराधिकारी बने। 
  • रेशम मार्ग के बड़े हिस्से पर कुषाणों का प्रभाव था, जिसने चीन में बौद्ध धर्म के प्रसार में योगदान भी दिया था। इस दौरान बौद्ध धर्म भी कोरिया और जापान में फैलने लगा था।
  • कुषाण युएझी जनजाति की पांच शाखाओं में से एक हैं जो चीनी सीमा पर या मध्य एशिया में रहती थीं। 
  • चीनी में, उन्हें गुइशुआंग कहा जाता है।

Summary

किसने कुषाण वंश की स्थापना की थी?

कुषाण वंश की स्थापना कुजुला कडफिसेस I ने की थी। उन्होंने 127-151 ईस्वी तक शासन करने वाले कनिष्क के शासन में कुषाण साम्राज्य अपने चरम पर पहुंच गया। हालांकि, उनकी मृत्यु के बाद साम्राज्य का पतन शुरू हो गया और चौथी शताब्दी ईस्वी में पूरी तरह से अलग हो गया। 

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates