यूपीएससी(UPSC) के लिए वैकल्पिक विषय हिंदी (Hindi) का पाठ्यक्रम: पाठ्यक्रम की पीडीएफ डाउनलोड करें

By Shubhra Anand Jain|Updated : August 30th, 2022

जो यूपीएससी अभ्यर्थी हिंदी पृष्ठभूमि के है उनके लिए हिंदी साहित्य का वैकल्पिक विषय के रूप में चयन बहुत ही लोकप्रिय है। हिंदी के पाठ्यक्रम में विभिन्न विषय सम्मिलित हैं जैसे हिंदी भाषा का इतिहास और नागरी लिपि, भारतीय साहित्य का इतिहास, कथा साहित्य और कई अन्य।

आपको यूपीएससी हिंदी साहित्य के पाठ्यक्रम को अच्छे से समझ, विगत वर्षों के प्रश्न-पत्रों का अवलोकन करते हुए वैकल्पिक विषय के रूप में चयन करना चाहिए । एक प्रभावी योजना बनाते हुए और पाठ्यक्रम को समय पर पूरा करने के लिए एक प्रभावी एवं कुशल रणनीति बना कर कार्य करें।

Table of Content

UPSC हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम अवलोकन

यूपीएससी हिंदी साहित्य वैकल्पिक विषय की परीक्षा में पेपर 1 और पेपर 2 सम्मिलित हैं। प्रत्येक पेपर 250 अंकों का है, और कुल 500 अंक है।

UPSC हिंदी साहित्य का पाठ्यक्रम

विषय/टॉपिक

हिंदी साहित्य वैकल्पिक विषय पेपर 1

हिंदी भाषा और नागरी लिपि का इतिहास

भारतीय साहित्य का इतिहास

कथा साहित्य

नाटक और रंगमंच

आलोचना

हिंदी गद्य के अन्य रूप- ललित निबंध, रेखाचित्र, और अन्य।

हिंदी साहित्य वैकल्पिक विषय पेपर 2

जायसी-पद्मावत श्याम सुंदर दास

सूरदास-भ्रामर गीत सार

तुलसीदास- रामचरितमानस

कबीर- कबीर ग्रंथावली

मैथिली शरण गुप्ता- भारत भारती

बिहारी-बिहारी रत्नाकर जगन्नाथ प्रसाद रत्नाकर

प्रसाद- कामायनी

निराला- राग विराग

नागार्जुन: बादल को घिरते देखा है

मोहन राकेश: आषाढ़ का एक दिन

रामचंद्र शुक्ल: चिंतामणि (भाग I) (कविता क्या है)

सत्येंद्र: निबंध निलय

यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम की PDF डाउनलोड करे

यदि आप यूपीएससी के लिए हिंदी साहित्य का पाठ्यक्रम डाउनलोड करना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे। हिंदी साहित्य के पाठ्यक्रम के अलावा, आपको यूपीएससी मुख्य परीक्षा के बारे में अच्छे तरह से पता होना चाहिए।

पेपर 1 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

यूपीएससी के लिए हिंदी साहित्य के पाठ्यक्रम के पेपर 1 में हिंदी भाषा का इतिहास और नागरी लिपि, भारतीय साहित्य का इतिहास शामिल है। पेपर 1 कुल 250 अंकों का होता है।

पेपर 1 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

पेपर 1 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

पेपर 1 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

पेपर 2 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम (Hindi Literature Syllabus)

यूपीएससी (UPSC) के पेपर 2 के लिए हिंदी साहित्य का पाठ्यक्रम जायसी-पद्मावत श्याम सुंदर दास, सूरदास-भ्रामर गीत सर, तुलसीदास- रामचरितमानस, कबीर-कबीर ग्रंथावली और कई अन्य के बारे में बात करता है जो आगे उप-विषयों में विभाजित हैं।

पेपर 2 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

पेपर 2 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

पेपर 2 के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम

यूपीएससी हिंदी साहित्य सिलेबस (Hindi Literature Syllabus) – तैयारी करने हेतु रणनीति

यूपीएससी हिंदी साहित्य के पाठ्यक्रम की तैयारी के लिए, आपको कुछ टिप्स का पालन करना होगा । यहाँ तैयारी कि सरल टिप्स दिए गए है, जो यूपीएससी हिंदी साहित्य वैकल्पिक विषय के पूरे पाठ्यक्रम को कवर करेंगी।

  • सिलेबस की संरचना को ठीक से पढ़ें और उसका विश्लेषण करें क्योंकि यह आपकी परीक्षा की तैयारी में आपकी मदद करेगा।
  • हमेशा पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों, मॉक टेस्ट को हल करें क्योंकि इससे आपको परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी और इस तरह आप कई विषयों के वेटेज का पता लगा सकते हैं।
  • महत्वपूर्ण विषयों को विस्तार से पढ़ने का प्रयास करें और उन पर नोट्स बनाएं। एक बार जब आप यह नोट्स बना लेते है तो उसे प्रतिदिन दोहराए।
  • आपका हिंदी शब्द कोश अच्छा होना चाहिए। यह जरुरी है क्योंकि इससे आपको कोन सा शब्द कहाँ प्रयोग करना है इस बात का पता लगेगा।
  • अपने लिए एक अध्ययन कैलेंडर बनाएं और यूपीएससी हिंदी वैकल्पिक सिलेबस को समय पर पूरा करें। इतना करने के बाद, आप एक अच्छी और प्रभावी तैयारी कर सकते है।

हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम (Hindi Literature Syllabus) कवर करने हेतु पुस्तक सूची

यूपीएससी हिंदी वैकल्पिक विषय के पाठ्यक्रम की तैयारी के लिए आवश्यक संकलित पुस्तकों की एक अनुशंसित सूची है। उनमें से कुछ नीचे दी गई हैं।

महत्वपूर्ण पुस्तकें

प्रकाशक का नाम

आधुनिक साहित्य की प्रकृति

नामवर सिंह

जयश्री आकलन के आयाम

सदानंद शाही

कबीर

परम आनंद श्रीवास्तव

कबीर के शब्द

डॉ. सुकदेव सिन्हा

खड़ी बोली का प्राथमिक स्वरूप

नीलेश जैन

महाभोज मूल्यांकन के परिप्रेक्ष्य

सदानंद शाही

मोहन राकेश और आषाढ़ का एक दिन

गिरीश रस्तोगी

निराला रचिता राम की शक्ति पूजा भाश्य

डॉ. सूर्य प्रसाद दीक्षित

Comments

write a comment

FAQs on यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय हिंदी का पाठ्यक्रम

  • यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम में हिंदी भाषा का इतिहास और नागरी लिपि, भारतीय साहित्य का इतिहास, कथा साहित्य, जायसी-पद्मावत, श्याम सुंदर दास, सूरदास-भ्रामर गीत और ऐसे ही कई अन्य विषय।

  • हां, आप उचित और प्रभावी अध्ययन योजना के साथ यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम को 6 महीने में आसानी से पूरा कर सकते हैं। यदि आप यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं, तो आपको व्यापक और संगठित दृष्टिकोण अपनाने की आवश्यकता है। हमेशा महत्वपूर्ण विषयों पर छोटे-छोटे नोट्स बनाएं और नियमित रूप से अपना अतिरिक्त समय दें और प्रयास करें।

  • जी हां, आप हिंदी साहित्य के साथ यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के पाठ्यक्रम की तैयारी आसानी से कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप पाठ्यक्रम की संरचना का विश्लेषण करें और उसी के अनुसार अध्ययन करें। उम्मीदवारों को एक अध्ययन योजना बनानी चाहिए और उसी के अनुसार तैयारी करनी चाहिए। उम्मीदवार को अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए एक संगठित और कुशल अध्ययन योजना का सहारा लेना चाहिए। 

  • यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम को कवर करने के लिए सबसे अच्छी किताबें परम आनंद श्रीवास्तव कृत कबीर, डॉ सुकदेव सिन्हा कृत कबीर के सबद और नीलेश जैन कृत खड़ी बोली का प्रारंभिक स्वरूप हैं। ये उम्मीदवारों के लिए तैयारी करने की सबसे अच्छी किताबें हैं और इससे आपको महत्वपूर्ण विषयों के बारे में जानने में मदद मिलेगी।

  • अनिवार्य भाषा का पेपर अर्हता (क्वालिफाइंग) प्रकृति का होता है। जहां हिंदी अनिवार्य भाषा के प्रश्नपत्र में निबंध, गद्यांश, संक्षेपण, अनुवाद आदि जैसे प्रश्न शामिल होते हैं, वहीं वैकल्पिक विषयों के लिए यूपीएससी हिंदी साहित्य पाठ्यक्रम में अधिक मात्रा में साहित्य शामिल होता है।

  • जी हां, आप यूपीएससी मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र का उत्तर अंग्रेजी में दे सकते हैं, हालांकि, यूपीएससी हिंदी साहित्य वैकल्पिक पाठ्यक्रम के उत्तर लिखने के लिए आपको केवल देवनागरी लिपि का उपयोग करना होगा।

Follow us for latest updates