बाबा बुदन पहाड़ियां किस राज्य में स्थित हैं?

By Sakshi Yadav|Updated : December 1st, 2022

बाबा बुदन पहाड़ियां कर्नाटक के चिकमंगलूर में स्थित हैं। इसे दत्तात्रेय पीठ के नाम से भी जाना जाता है। ये पहाड़ियां हिंदुओं और मुसलमानों का तीर्थ स्थल हैं जो समुद्रतल से 1,895 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। लोग यहाँ बाबा बुदन की समाधि के दर्शन करने आते हैं। संघ परिवार के संगठनों ने 2000 के दशक में "दत्त जयंती" समारोह शुरू किया था। इस पहाड़ की मुख्य चोटियाँ मुल्लायनगिरी और बाबा बुदनगिरी हैं और इन चोटियों को चंद्रद्रोण पर्वत के रूप में जाना जाता है क्योंकि ये एक अर्धचंद्र के आकार में दिखती है।

बाबा बुदन पहाड़ियां से जुड़े मुख़्य तथ्य

बाबा बुदनगिरी का एक मंदिर है जो हिंदुओं और मुसलमानों दोनों के लिए तीर्थ स्थान है। बाबा बुदनगिरी अपने कॉफी बागानों के लिए जाना जाता है। नीचे बाबा बुदनगिरी पहाड़ियों के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य देखें:

  • बाबा बुदनगिरी मंदिर का नाम सूफी संत बाबा बुदान के नाम पर रखा गया है, जो मुसलमानों और हिंदुओं दोनों द्वारा पूजनीय हैं।
  • बाबा बुदन पहाड़ी की उत्पत्ति 11वीं शताब्दी में हुई थी और ऐसा माना जाता है की बाबा बुदन सऊदी अरब से कॉफी की 7 बीज भारत लाये थे।
  • दत्तात्रेय पीठ एक विवादित स्थान है। अदालत के अनुसार, मैसूर धार्मिक और धर्मार्थ संस्थान अधिनियम, 1927 के तहत पहले ये एक मुजराई मंदिर था, लेकिन राज्य वक्फ बोर्ड ने 6 अप्रैल, 1973 को आपातकाल घोषित होने से ठीक पहले इस पर कब्जा कर लिया गया था।

Summary:

बाबा बुदन पहाड़ियां किस राज्य में स्थित हैं?

बाबा बुदन पहाड़ियां कर्नाटक राज्य के चिक्कमगलुरु नामक जिले में स्थित है। बाबा बुदनगिरी एक सूफी संत थे, जिसे हिन्दू और मुसलमान धर्म के लोग पूजते है। बाबा बुदन को दत्तागिरी के नाम से भी जाना जाता है और ये अरबी से भारत कॉफ़ी की बीज लाने के लिए प्रसिद्ध थे। कुरिंजी का फूल इस क्षेत्र में पाया जाता है और 12 साल में एक बार खिलता है।

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates