विश्व जनसंख्या दिवस 2022 - 11 जुलाई

By Trupti Thool|Updated : July 11th, 2022

विश्व जनसंख्या दिवस 2022: संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) द्वारा वर्ष 1989 से प्रत्येक वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाये जाने का निर्णय लिया। जनसंख्या वृद्धि के लिए एक दिन को चिह्नित करने का मुख्य उद्देश्य जनसंख्या के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाना था, जिसमें पर्यावरण और विकास के संबंध शामिल थे।
विश्व जनसंख्या दिवस क्यों मनाया जाता है, विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का इतिहास क्या है , इसका विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का महत्व और इस वर्ष 2022 की विश्व जनसंख्या दिवस की थीम से सम्बंधित जानकारी आपको इस आर्टिकल में दी जा रही है।

विश्व जनसंख्या दिवस 2022, World Population Day 2022

जनसंख्या के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जा रहा है । जनसंख्या के मुद्दों के महत्व पर दुनिया का ध्यान केंद्रित करना करने हेतु विश्व जनसंख्या दिवस का आयोजन लगभग तीन दशकों से किया जा रहा है ।

विश्व जनसंख्या दिवस का उद्देश्य विभिन्न जनसंख्या मुद्दों जैसे परिवार नियोजन के महत्व, लैंगिक समानता, गरीबी, मातृ स्वास्थ्य और मानवाधिकारों के बारे में लोगों की जागरूकता बढ़ाना है। यह दिन दुनिया भर में व्यापारिक समूहों, सामुदायिक संगठनों और व्यक्तियों द्वारा विविध तरह से मनाया जाता है, जिसमें शामिल विविध गतिविधियों के अंतर्गत संगोष्ठी चर्चा, शैक्षिक सूचना सत्र और निबंध प्रतियोगिताएं शामिल होती हैं।

विश्व जनसंख्या दिवस का इतिहास और पृष्ठभूमि

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल ने 1989 में इसकी शुरूआत की सिफारिश की थी। इस विशेष दिन की प्रेरणा 11 जुलाई, 1987 को "पांच अरब दिवस" द्वारा उठाए गए ब्याज से आती है। यह वह दिन था जब दुनिया की आबादी 5 अरब तक पहुंच गई थी।
1990 में विश्व जनसंख्या दिवस पहली बार 11 जुलाई को 90 से अधिक देशों में मनाया गया था
वर्ष 1968 में, मानव अधिकारों पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया था पहली बार परिवार नियोजन को मानव अधिकार के रूप में मान्यता दी गई थी। सम्मेलन के दौरान अपनाई गई तेहरान उद्घोषणा में कहा गया है कि यह माता-पिता का मूल अधिकार है कि वे अपने बच्चों की संख्या और दूरी तय करने में सक्षम हों।

byjusexamprep

विश्व जनसंख्या दिवस के इतिहास से जुड़े तथ्य

  • वर्ष 1800 में विश्व की जनसंख्या 1 बिलियन तक पहुंच गई थी।
  • प्रत्येक वर्ष विश्व की आबादी में 83 मिलियन की वृद्धि हो रही है।
  • अफ्रीका की कुल जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है, जबकि यूरोप की जनसंख्या घट रही है।
  • वैश्विक जीवन प्रत्याशा हर साल बढ़ रही है।
  • वर्ष 2000 में, औसत जीवन प्रत्याशा 67 वर्ष थी। 20 साल बाद यह बढ़कर 72 हो गयी है।
  • वर्ष 1981 और 1996 के बीच पैदा हुए व्यक्ति, दुनिया की कुल आबादी का 27% हिस्सा है और लगभग 2 अरब लोग इस पीढ़ी का हिस्सा हैं।

विश्व जनसंख्या दिवस 2022 की थीम

विश्व जनसंख्या दिवस 2022 का विषय/थीम '8 बिलियन की दुनिया: सभी के लिए एक लचीले भविष्य की ओर- अवसरों का दोहन और सभी के लिए अधिकार व विकल्प सुनिश्चित करना' है।
हर साल विश्व जनसंख्या दिवस एक थीम के साथ मनाया जाता है। विश्व जनसंख्या दिवस 2022 का विषय बढ़ती जनसंख्या से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर ध्यान केंद्रित कर सकता है और इस मुद्दे पर अंकुश लगाने के लिए आवश्यक कदमों को बढ़ावा दे सकता है।

विश्व जनसंख्या दिवस 2021 थीम

विश्व जनसंख्या दिवस वर्ष 2021 का विषय/थीम 'प्रजनन क्षमता पर COVID-19 महामारी का प्रभाव' था। इस वर्ष संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (UNFPA) के सहयोग से UN DESA द्वारा 14 जुलाई 2021 को COVID के प्रभाव पर चर्चा करने के लिए एक ऑनलाइन पैनल चर्चा आयोजन भी किया गया था। वहीं विश्व जनसंख्या दिवस वर्ष 2020 का विषय 'अब महिलाओं और लड़कियों के स्वास्थ्य और अधिकारों की सुरक्षा कैसे करें' था।

Download Free PDFs of Daily, Weekly & Monthly करेंट अफेयर्स in Hindi & English

Comments

write a comment

UPPSC

UP StateUPPSC PCSVDOLower PCSPoliceLekhpalBEOUPSSSC PETForest GuardRO AROJudicial ServicesAllahabad HC RO ARO RecruitmentOther Exams

Follow us for latest updates