व का उच्चारण स्थान क्या है?

By Sukrati Saxena|Updated : July 22nd, 2022

व का उच्चारण स्थान दन्तोष्ठ्य है| दंत्य उच्चारण दाँतों से उत्पन्न होती है| उदाहरण - त, थ, द, ध, न| स्वनविज्ञान के सन्दर्भ में, अभिव्यक्ति भाषण या संगीत में स्पष्ट रूप से ध्वनि या शब्द उत्पन्न करने की क्रिया है। उच्चारण स्थान वह है जिनको 'चल वस्तुएँ' छूकर जब ध्वनि मार्ग में बाधा डालती हैं तो उन व्यंजनों का उच्चारण होता है। उत्पन्न व्यंजन की विशिष्ट प्रकृति तीन बातों पर निर्भर करती है- उच्चारण विधि, उच्चारण स्थान और स्वनन। दन्तोष्ठ्य उच्चारण के अलावा कही सारे उच्चारण स्थान है, जैसे: कण्ठ्य वर्ण वह है जिन वर्णो का उच्चारण कंठ से होता है। उदाहरण - अ , आ, क, ख , ग, घ| मूर्द्धन्य वर्ण वह है जिन वर्णो के उच्चारण मूर्द्धा से होता है उदाहरण - ऋ, ट, ठ, ड, ढ, ण, र, ष

Answer: व का उच्चारण स्थान दन्तोष्ठ्य है|

विशेषकर शब्दों में जब किसी विचार या भावना की अभिव्यक्ति उसकी होती है वह उच्चारण स्थान कहलता है|जब ध्वनि उत्पन्न करने के लिए दो अंग संपर्क में आते हैं, तो उच्चारण ध्वनि उत्पन्न होती है|दंत ध्वनि वह है जब दांतों और जीभ के संपर्क से ध्वनि उत्पन्न होती है| 

Summary:

व का उच्चारण स्थान क्या है?

व का उच्चारण स्थान दन्तोष्ठ्य है| दंत्य उच्चारण दाँतों से उत्पन्न होती है| उदाहरण - त, थ, द, ध, न| 

Related Questions:

सोना का पर्यायवाची शब्द क्या है ?

चौराहा कौन सा समस है?

मानव शरीर में सबसे लंबी कोशिका कौन है?

Comments

write a comment

Follow us for latest updates