UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022: नवीनतम PDF डाउनलोड करें

By Shubhra Anand Jain|Updated : July 26th, 2022

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022, संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर आधिकारिक अधिसूचना के साथ जारी किया गया है। UPSC मुख्य परीक्षा में 2 क्वालीफाइंग पेपर और 7 अन्य पेपर होते हैं जिसमें 4 सामान्य अध्ययन पेपर और दो वैकल्पिक विषय के पेपर शामिल होते हैं। IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में निबंध, सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र और वैकल्पिक विषयों का पाठ्यक्रम शामिल हैं।

IAS मुख्य परीक्षा को अच्छे अंको के साथ पास करने के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम की स्पष्ट समझ बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। IAS अभ्यर्थियों को पता होना चाहिए कि वे IAS मुख्य परीक्षा के लिए तभी पात्र होंगे जब वे IAS प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होंगे। आप UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 PDF डाउनलोड करके अपनी तैयारी शुरू कर सकते हैं।

BYJU'S Exam Prep Prelims 2023 Mock Test

Table of Content

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022

IAS मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम विस्तृत है, इसलिए मुख्य परीक्षा की मूल संरचना और प्रश्नपत्रों को समझना महत्वपूर्ण है। पहले दो पेपर - भारतीय भाषा और अंग्रेजी क्वालिफाइंग पेपर हैं और मेरिट लिस्ट तैयार करते समय इन्हें ध्यान मे नहीं लिया जाता है। 

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि UPSC प्रीलिम्स पाठ्यक्रम को मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के साथ जोडा जाता है। रणनीतिक तरीके से तैयार करने के लिए समानताओं पर ध्यान दें।  UPSC मुख्य परीक्षा में निम्नलिखित विषय शामिल हैं: 

  • UPSC मुख्य परीक्षा भाषाई पेपर का पाठ्यक्रम (दो पेपर ) 
  • UPSC मुख्य परीक्षा निबंध पेपर का पाठ्यक्रम
  • UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर-1 का पाठ्यक्रम
  • UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर-2 का पाठ्यक्रम 
  • UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर-3 का पाठ्यक्रम 
  • UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर-4 का पाठ्यक्रम
  • UPSC मुख्य परीक्षा वैकल्पिक विषय पेपर का पाठ्यक्रम (दो) 

IAS परीक्षा की तैयारी करते समय, अभ्यर्थियों को प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम दोनों की तैयारी एक साथ करनी चाहिए। इसके अलावा, UPSC CSAT पाठ्यक्रम भी तैयार करें क्योंकि पेपर क्वालिफाइंग तरीके का होता है और यदि उम्मीदवार असफल हो जाता है, तो प्रतियोगिता से बाहर हो जाता है।

UPSC Mains Syllabus in Hindi

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 PDF 

 

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम PDF UPSC की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। हालांकि, अभ्यर्थी नीचे दिए गए लिंक से सीधे PDF प्रारूप में पाठ्यक्रम डाउनलोड कर सकते हैं। आगामी परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को एक कुशल अध्ययन योजना और तैयारी की रणनीति बनाने के लिए पाठ्यक्रम का विश्लेषण करना चाहिए।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा परीक्षा के पाठ्यक्रम का मुख्य लक्ष्य अभ्यर्थियों की क्षमता को पहचानना है, क्या उनके पास सीमित समय में सर्वोत्तम संभव तरीके से उत्तर प्रस्तुत करने की बौद्धिक क्षमता है। इस पोस्ट में, हम UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 को कवर करने जा रहे हैं।

पेपर्स में उत्तीर्ण होने के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 के भाषा के प्रश्नपत्रों में भारतीय भाषा (पेपर ए) और अंग्रेजी (पेपर बी) शामिल हैं। ये दो पेपर क्वालिफाइंग प्रकृति के हैं और उम्मीदवारों को इन पेपरों में अर्हता प्राप्त करने के लिए 25% या उससे अधिक अंक प्राप्त करने चाहिए। यदि उम्मीदवार इन पेपरों में 25% से कम अंक प्राप्त करता है तो उनकी अन्य उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन नहीं किया जाएगा।

  • UPSC मुख्य परीक्षा भारतीय भाषा पाठ्यक्रम: कॉम्प्रिहेंशन, संक्षेपण, शब्द प्रयोग और शब्द भंडार और लघु निबंध।
  • यूपीएससी मुख्यपरीक्षा अनिवार्य अंग्रेजी पाठ्यक्रम: कॉम्प्रिहेंशन,संक्षेपण, लघु निबंध, शब्द प्रयोग और शब्द भंडार , अंग्रेजी से भारतीय भाषा तथा भारतीय भाषा से अंग्रेजी में अनुवाद

निबंध पेपर के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा पेपर 1 निबंध पाठ्यक्रम स्पष्ट रूप से परिभाषित नहीं है। UPSC मुख्य परीक्षा मे निबंध पेपर किसी भी विषय का हो सकता है और अभ्यर्थियों को निबंध लिखते समय केवल मुख्य विषय पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता होती है, और अपने विचारों को स्पष्ट रूप से नोट करने की आवश्यकता होती है, अभ्यर्थियों को विषयों की एक सूची दी जाती है, और उन्हें उनमें से कुल 250 अंकों के किसी दो निबंध को चुनने की आवश्यकता होती है।

सामान्य अध्ययन 1 (पेपर 2) के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर 1 (क्रमांक के दृष्टिकोण से पेपर-2) पाठ्यक्रम में इतिहास, भूगोल, भारतीय विरासत संस्कृति और समाज जैसे विषय शामिल हैं। अधिक जानकारी के लिए UPSC Mains सामान्य अध्ययन Paper 2 Syllabus PDF  डाउनलोड करें।

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम सामान्य अध्ययन 1

UPSC मुख्य परीक्षा भारतीय कला एवं संस्कृति का पाठ्यक्रम 



भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलू शामिल होंगे।

UPSC मुख्य परीक्षा आधुनिक भारत का पाठ्यक्रम

18वीं सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास- महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, व्यक्तित्व, विषय।

स्वतंत्रता संग्राम- इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्त्वपूर्ण व्यक्ति/उनका योगदान।

स्वतंत्रता के पश्चात् देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन।

UPSC मुख्य परीक्षा विश्व इतिहास का पाठ्यक्रम 

विश्व के इतिहास में 18वीं सदी तथा बाद की घटनाएँ यथा औद्योगिक क्रांति,
विश्व युद्ध,
राष्ट्रीय सीमाओं का पुनःसीमांकन,
उपनिवेशवाद,
उपनिवेशवाद की समाप्ति,
राजनीतिक दर्शन जैसे साम्यवाद,
पूंजीवाद,
समाजवाद आदि शामिल होंगे, उनके रूप और समाज पर उनका प्रभाव।

UPSC मुख्य परीक्षा भारतीय समाज का पाठ्यक्रम

भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएँ, भारत की विविधता।

महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबद्ध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएँ और उनके रक्षोपाय।

भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव।

सामाजिक सशक्तीकरण, संप्रदायवाद, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।

UPSC मुख्य परीक्षा भूगोल का पाठ्यक्रम 

विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएँ।

विश्व भर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप को शामिल करते हुए), विश्व (भारत सहित) के विभिन्न भागों में प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने के लिये ज़िम्मेदार कारक।

भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखीय हलचल, चक्रवात आदि जैसी महत्त्वपूर्ण भू-भौतिकीय घटनाएँ, भौगोलिक विशेषताएँ और उनके स्थान- अति महत्त्वपूर्ण भौगोलिक विशेषताओं (जल-स्रोत और हिमावरण सहित) और वनस्पति एवं प्राणिजगत में परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनों के प्रभाव।

सामान्य अध्ययन 2 (पेपर-3) के लिए UPSC  मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन- 2 (क्रमांक के दृष्टिकोण से पेपर-3)  पाठ्यक्रम शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बारे में है।

सामान्य अध्ययन 1 के विपरीत, इस पेपर में विभिन्न विषयों के बीच विश्लेषणात्मक सोच और सहसंबंध की आवश्यकता होती है। सामान्य अध्ययन 2 पेपर के लिए IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम ज्यादातर लक्ष्मीकांत द्वारा कवर किया जाता है। तैयारी शरु करने के लिए UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर 2 पाठ्यक्रम PDF डाउनलोड करें।

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम का संक्षिप्त रूप और कवर किए जाने वाले महत्वपूर्ण विषयों का उल्लेख नीचे किया गया है। 

UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन 2 पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा राजव्यवस्था का पाठ्यक्रम

भारतीय संविधान, भारतीय संविधान की विशेषताएं, भारतीय संविधान में संशोधन, प्रावधान, संवैधानिक और गैर-संवैधानिक निकाय

UPSC मुख्य परीक्षा अभिशासन का पाठ्यक्रम

सरकारी नीतियां और हस्तक्षेप, शासन, पारदर्शिता, जवाबदेही, ई-गवर्नेंस अनुप्रयोग

UPSC मुख्य परीक्षा सामाजिक न्याय का पाठ्यक्रम

सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित मुद्दे, गरीबी और भूख से संबंधित मुद्दे

UPSC मुख्य परीक्षा अंतरराष्ट्रीय संबंध का पाठ्यक्रम 

द्विपक्षीय समूह, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह, भारत से जुड़े और/या भारत के हितों को प्रभावित करने वाले समझौते

सामान्य अध्ययन पेपर-2; शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध 

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-राजनीति

  • भारतीय संविधान- ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना।
  • संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व
  • संघीय ढाँचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियाँ
  • स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियाँ।
  • विभिन्न घटकों के बीच शक्तियों का पृथक्करण, विवाद निवारण तंत्र तथा संस्थान।
  • भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य देशों के साथ तुलना।
  • संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय।
  • कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य- सरकार के मंत्रालय एवं विभाग,
  • प्रभावक समूह और औपचारिक/अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका।
  • जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएँ।
  • विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति और विभिन्न संवैधानिक निकायों की शक्तियाँ, कार्य और उत्तरदायित्व।
  • सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्द्ध-न्यायिक निकाय।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-सामाजिक न्याय 

  • सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय।
  • विकास प्रक्रियाएं और विकास उद्योग गैर-सरकारी संगठनों, एसएचजी, विभिन्न समूहों और संघों, दाताओं, विशेषताओं, संस्थागत और अन्य हितधारकों की भूमिका
  • केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिये कल्याणकारी योजनाएँ और इन योजनाओं का कार्य-निष्पादन;
  • इन अति संवेदनशील वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिये गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय।
  • स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-शासन व्यवस्था

  • शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्त्वपूर्ण पक्ष, ई-गवर्नेंस- अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएँ, सीमाएँ और संभावनाएँ;
  • नागरिक चार्टर, पारदर्शिता एवं जवाबदेही और संस्थागत तथा अन्य उपाय।
  • लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-अंतर्राष्ट्रीय संबंध

  • भारत और उसके पड़ोसी-संबंध।
  • द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से संबंधित और/अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले कारक।
  • भारत के हितों पर विकसित तथा विकासशील देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव; प्रवासी भारतीय।
  • महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएँ और मंच- उनकी संरचना, अधिदेश।

सामान्य अध्ययन 3 (पेपर 4) के लिए IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन पेपर 3 पाठ्यक्रम में निम्नलिखित विषय शामिल हैं:

  • प्रौद्योगिकी
  • आर्थिक विकास
  • जैव विविधता, पर्यावरण
  • सुरक्षा और आपदा प्रबंधन

सामान्य अध्ययन पेपर 3 को भी करेंट अफेयर्स के साथ लगातार सह-संबंध की आवश्यकता होती है क्योंकि पूछे जाने वाले प्रश्न आमतौर पर वर्तमान घटनाओं के विश्लेषण की मांग करते हैं। सामान्य अध्ययन पेपर 3 के लिए विस्तृत UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम का उल्लेख नीचे किया गया है।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-अर्थव्यवस्था

  • भारतीय अर्थव्यवस्था तथा योजना, संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास तथा रोज़गार से संबंधित विषय।
  • समावेशी विकास तथा इससे उत्पन्न विषय।
  • सरकारी बजट।
  • मुख्य फसलें- देश के विभिन्न भागों में फसलों का पैटर्न- सिंचाई के विभिन्न प्रकार एवं सिंचाई प्रणाली- कृषि उत्पाद का भंडारण, परिवहन तथा विपणन, संबंधित विषय और बाधाएँ; किसानों की सहायता के लिये ई-प्रौद्योगिकी।
  • प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कृषि सहायता तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित विषय; जन वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्य, सीमाएँ, सुधार; बफर स्टॉक तथा खाद्य सुरक्षा संबंधी विषय; प्रौद्योगिकी मिशन; पशु पालन संबंधी अर्थशास्त्र।
  • भारत में खाद्य प्रसंस्करण एवं संबंधित उद्योग- कार्यक्षेत्र एवं महत्त्व, स्थान, ऊपरी और नीचे की अपेक्षाएँ, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।
  • उदारीकरण का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन तथा औद्योगिक विकास पर इनका प्रभाव।
  • बुनियादी ढाँचाः ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन, रेलवे आदि।
  • निवेश मॉडल।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम-विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और रोज़मर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव।
  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियाँ; देशज रूप से प्रौद्योगिकी का विकास और नई प्रौद्योगिकी का विकास।
  • सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, नैनो-टैक्नोलॉजी, बायो-टैक्नोलॉजी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित विषयों के संबंध में जागरुकता।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम- जैव विविधता और पर्यावरण 

  • संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम- आपदा प्रबंधन 

  • आपदा और आपदा प्रबंधन।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम- आंतरिक सुरक्षा

  • विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध।

  • आंतरिक सुरक्षा के लिये चुनौती उत्पन्न करने वाले शासन विरोधी तत्त्वों की भूमिका।

  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन-शोधन और इसे रोकना।

  • सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियाँ एवं उनका प्रबंधन- संगठित अपराध और आतंकवाद के बीच संबंध।

  • विभिन्न सुरक्षा बल और संस्थाएँ तथा उनके अधिदेश।

     

 

नीति शास्त्र (सामान्य अध्ययन 4) के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में पेपर 4 में नीतिशास्त्र का पाठ्यक्रम है ।  नीतिशास्त्र के पेपर का उद्देश्य अभ्यर्थी की सांस्कृतिक और सामाजिक नैतिकता की भावना का मूल्यांकन करना है। यहां अभ्यर्थियों को ऐसे प्रश्न मिलेंगे जो उनकी समस्या-समाधान क्षमता के साथ-साथ सामाजिक मुद्दों के प्रति उम्मीदवारों की प्रतिक्रियाओं और दृष्टिकोण की जांच करेंगे।

हमने नीचे संपूर्ण UPSC नीति शास्त्र पाठ्यक्रम का उल्लेख किया है।

सामान्य अध्ययन 4 – नीतिशास्त्र के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

नीतिशास्त्र के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

मानवीय मूल्य- महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका।

भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दार्शनिकों के योगदान।

अभिवृत्तिः सारांश (कंटेन्ट), संरचना, वृत्ति; विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध; नैतिक और राजनीतिक अभिरुचि; सामाजिक प्रभाव और धारण।

नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-संबंधः मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्त्व, इसके निर्धारक और परिणाम; नीतिशास्त्र के आयाम; निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र,

उपर्युक्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडीज़)।

सत्यनिष्ठा के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

लोक प्रशासन में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्रः स्थिति तथा समस्याएँ;

सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएँ तथा दुविधाएँ;

नैतिक मार्गदर्शन के स्रोतों के रूप में विधि, नियम, विनियम तथा अंतरात्मा;

उत्तरदायित्व तथा नैतिक शासन, शासन व्यवस्था में नीतिपरक तथा नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण;

अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था (फंडिंग) में नैतिक मुद्दे;

कॉरपोरेट शासन व्यवस्था।

शासन व्यवस्था में ईमानदारीः लोक सेवा की अवधारणा; शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, नीतिपरक आचार संहिता, आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियाँ।

अभिरुचि के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 

सिविल सेवा के लिये अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य- सत्यनिष्ठा, भेदभाव रहित तथा गैर-तरफदारी, निष्पक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमज़ोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा संवेदना।

भावनात्मक समझः अवधारणाएँ तथा प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनके उपयोग और प्रयोग। 

 

 

वैकल्पिक विषयों के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

UPSC मुख्य परीक्षा परीक्षा के वैकल्पिक विषय के पेपर के लिए अभ्यर्थी को दिए गए 48 विषयों में से एक वैकल्पिक विषय का चयन करना होगा। अभ्यर्थियों को उस चुने हुए विषय पर दो पेपर देने होते हैं और प्रत्येक पेपर में 250 अंक होते हैं। अभ्यर्थियों को अपनी काबिलियत के आधार पर सही विषय चुनने की जरूरत होती है।

अनुक्रमांक

वैकल्पिक विषयों के लिए यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

1

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम कृषि

2

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान

3

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस एंथ्रोपोलॉजी

4

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस फॉर बॉटनी

5

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस फॉर केमिस्ट्री

6

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम सिविल इंजीनियरिंग केलिए

7

आईएएस मुख्य परीक्षा कॉमर्स एंड अकाउंटेंसी पाठ्यक्रम

8

यूपीएससी मुख्य परीक्षा अर्थशास्त्र पाठ्यक्रम

9

आईएएस मुख्य परीक्षा सिलेबस इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

10

यूपीएससी मुख्य परीक्षा अंग्रेजी वैकल्पिक पाठ्यक्रम

11

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम भूगोल वैकल्पिक

12

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस जियोलॉजी

13

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस हिंदी साहित्य

14

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम इतिहास वैकल्पिक

15

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम कानून

16

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सिलेबस मैनेजमेंट

17

यूपीएससी मुख्य परीक्षा गणित वैकल्पिक पाठ्यक्रम

18

यूपीएससी मैकेनिकल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम

19

चिकित्सा विज्ञान के लिए यूपीएससी मुख्य परीक्षा वैकल्पिक पाठ्यक्रम

20

यूपीएससी मुख्य परीक्षा दर्शनशास्र पाठ्यक्रम

21

यूपीएससी भौतिकी वैकल्पिक पाठ्यक्रम

22

यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम राजनीति विज्ञान वैकल्पिक

23

यूपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए मनोविज्ञान पाठ्यक्रम

24

लोक प्रशासन के लिए मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम

25

यूपीएससी मुख्य परीक्षा सोशियोलॉजी वैकल्पिक पाठ्यक्रम

26

सांख्यिकी के लिए IAS मुख्य परीक्षा का सिलेबस

27

प्राणि विज्ञान वैकल्पिक मुख्य परीक्षा सिलेबस

 

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम तैयारी करने कि टिप्स 

IAS मुख्य परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम विशाल और विस्तृत है इसलिए पाठ्यक्रम को समय पर पूरा करने के लिए एक रणनीतिक योजना बनाना बहुत महत्वपूर्ण है। सबसे पहले, अभ्यर्थियों को किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं और विभिन्न विषयों का महत्व जानने के लिए, UPSC प्रश्न पत्रों के साथ पाठ्यक्रम का विश्लेषण करना चाहिए।

  • वैकल्पिक पेपरों के साथ-साथ सामान्य अध्ययन पेपर की तैयारी करें। दोनों को बराबर वेटेज देने के लिए अपनी दिन की योजना को विभाजित करें।
  • महत्वपूर्ण विषय को कवर करने के बाद, UPSC मुख्य परीक्षा में पूछे गए प्रश्न का उत्तर लिखने का प्रयास करें।
  • तैयारी करते समय हमेशा करेंट अफेयर्स को पाठ्यक्रम के साथ कवर और सहसंबंधित करें।
  • रिवीजन UPSC मुख्य तैयारी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है।
  • उत्तर लेखन और मॉक टेस्ट के साथ मुख्य परीक्षा का अभ्यास करते रहें। 

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम को कवर करने के लिए सर्वश्रेष्ठ पुस्तकें 

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के सामान्य अध्ययन भाग को पूरा करने के लिए आवश्यक कुछ बुनियादी पुस्तकों का उल्लेख नीचे किया गया है।

UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम सामान्य अध्ययन पेपर 1 के लिए पुस्तकें

  • प्राचीन भारत का परिचय- राम शरण शर्मा
  • मध्यकालीन भारत-राजनीति, समाज और संस्कृति- सतीश चंद्र
  • भारत का राष्ट्रीय आंदोलन- बिपन चंद्र
  • आधुनिक भारत का इतिहास या स्पेक्ट्रम (हिंदी)- राजीव अहिर
  • भारतीय कला, संस्कृति और विरासत: मीनाक्षी कान्त
  • भारत: गांधी के बाद- राम चंद्र गुहा
  • समकलीन विश्व का इतिहास 1890-2008- अर्जुन देव
  • इतिहास (एनसीईआरटी- कक्षा 9 से 12 )
  • भारत और विश्व का भूगोल -माजिद हुसैन
  • भौतिक भूगोल - माजिद हुसैन
  • ओरिएंट ब्लैकस्वान -(विश्व एटलस का लघु संस्कार)
  • भूगोल (एनसीईआरटी- कक्षा 11 और 12 )
  • सामाजिक समस्याएं- राम आहूजा
  • समाज का बोध- (एनसीईआरटी- कक्षा 11)
  • समाजशास्त्र का परिचय- (एनसीईआरटी- कक्षा 11)
  • भारतीय समाज- (एनसीईआरटी- कक्षा 12)
  • भारत में सामाजिक परिवर्तन और विकास- (एनसीईआरटी- कक्षा 12)

सामान्य अध्ययन पेपर 2 के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के लिए पुस्तकें

  • भारत की राज्यव्यस्था- एम. लक्ष्मीकांत
  • भारत का संविधान एक परिचय - डीडी बसु
  • हमारी संसद- सुभाष कश्यप
  • भारत की विदेश नीति- वीएन खन्ना

सामान्य अध्ययन पेपर 3 के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के लिए पुस्तकें

  • भारतीय अर्थव्यवस्था- रमेश सिंह
  • वार्षिक बजट
  • भारतीय आर्थिक सर्वेक्षण
  • पर्यावरण और परिस्थितिकी- माजिद हुसैन
  • विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी का विकास - शीलवंत सिंह (TMH)
  • भारत की आंतरिक सुरक्षा और मुख्य चुनौतियां- अशोक कुमार

सामान्य अध्ययन पेपर 4 के लिए UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के लिए पुस्तकें

  • नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि- लेक्सिकॉन
  • नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि - सुब्बा राव और पीएन राव चौधरी

Comments

write a comment

FAQs on यूपीएससी मुख्यपरीक्षा पाठ्यक्रम

  • UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में कई पेपरों में विभाजित विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। यूपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम में 9 पेपर हैं, भारतीय-भाषा, निबंध, अंग्रेजी, सामान्य अध्ययन 1, सामान्य अध्ययन 2, सामान्य अध्ययन 3, सामान्य अध्ययन 4 और वैकल्पिक विषय के दो पेपर।सामूहिक रूप से, IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 में इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, राजनीति, पर्यावरण, विज्ञानऔरतकनीक, आंतरिकसुरक्षा, अंतर्राष्ट्रीय संबंध और बहुत कुछ जैसे विषय शामिल हैं।

  • हां, यूपीएससी मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम व्यापकता और कवर किए गए विषयों के मामले में प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम सेअलग है।प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम को सामान्य अध्ययन पेपर 1 और सामान्य अध्ययन पेपर 2 में विभाजित किया गया है, जबकि मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में कुल 9 पेपर शामिल हैं जिसमें 4 सामान्य अध्ययन पेपर और 2 वैकल्पिक पेपर शामिल हैं।यदि आप आगामी यूपीएससी परीक्षा 2022 की तैयारी कर रहे हैं, तो आरंभ करने के लिए आपको दोनों का विश्लेषण करना होगा।

  • IAS मुख्य पाठ्यक्रम में कुल 48 वैकल्पिक विषय हैं।उम्मीदवारों को अपनी पसंद का कोई भी विषय चुनने की आजादी मिलती है।वैकल्पिक विषय की परीक्षा दो पेपरों में विभाजित है, पेपर 1, और पेपर 2।सबसे अधिक चुने गए वैकल्पिक विषयों में से कुछ पीएसआईआर, दर्शन, लोक प्रशासन, समाजशास्त्र, भूगोल, आदि हैं।

  • नैतिकता यूपीएससी मुख्यपरीक्षा पाठ्यक्रम 2022 के सामान्य अध्ययन पेपर 4 में शामिल है, और इसमें 250 अंक हैं।यूपीएससी के लिए नैतिकता पाठ्यक्रम में नैतिकता और मानव-इंटरफेस, मानवीय-मूल्य, योग्यता, दृष्टिकोण, ईआई, शासन-नैतिकता आदि जैसे विषय शामिल हैं।आईएएस नैतिकता पाठ्यक्रम से पूछे जाने वाले प्रश्न केस स्टडी के रूप में हैं। 

  • यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम पीडीएफ के सामान्य अध्ययन पेपर -1 में भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और भारतीय समाज का इतिहास और भूगोल जैसे विषय शामिल हैं।आईएएस मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन 1 पाठ्यक्रम के तहत कवर किए जाने वाले कुछ सबसे महत्वपूर्ण विषय कला और संस्कृति, आधुनिक इतिहास, विश्व इतिहास, भारत और विश्व का भौतिक भूगोल, मानव भूगोल और भारतीय समाज के पहलू हैं।

  • UPSC की प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा दोनों में भूगोल के बारे में पूछा जाता है। UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम के भूगोल खंड में भारतीय-भूगोल, भौतिक-भूगोल, विश्व-भूगोल, कृषि, जलवायु-विज्ञान,आदि शामिल हैं।भूगोल को UPSC मुख्य परीक्षा के पेपर 2 या प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन भाग-1 में पूछा जाता है।

  • उम्मीदवार एक रणनीतिक और व्यवस्थित दृष्टिकोण के साथ 3 महीने में यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम को कवर कर सकता है।उन्हें एक ठोस नींव बनाने, सही संसाधनों का उपयोग और एक मजबूत अध्ययन योजना बनाने की आवश्यकता है।किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं, इसका विश्लेषण करने के लिए पिछले वर्ष के यूपीएससी प्रश्नपत्रों को पढ़ना बहुत महत्वपूर्ण हैऔर फिर उसी के अनुसार तैयारी करें।

  • यूपीएससी का मुख्य लक्ष्य उन आईएएस अधिकारियों की भर्ती करना है जो हर चुनौती के लिए तैयार हैं और एक ठोस समस्या सुलझाने की क्षमता रखते हैं।यही कारण है कि यूपीएससी ने यूपीएससी मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में कई विषय जोड़े हैं जो भविष्य के आईएएस अधिकारियों को हर स्थिति के लिए तैयार रहने में मदद करेंगे; इसलिए यह पाठ्यक्रम की विशालता को सही ठहराता है।ध्यान दें कि मुख्य परीक्षा को आवेदकों के सामान्य बौद्धिक गुणों और ज्ञानकी गहराई का मूल्यांकन करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, न कि केवल उनकी सामग्री विस्तार और स्मरण क्षमता का।

  • UPSC पाठ्यक्रम को मोटे तौर पर UPSC प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम और मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में विभाजित किया गया है। IAS मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम में 9 पेपर होते हैं जिनमें भारतीय भाषा, निबंध, अंग्रेजी, सामान्य अध्ययन 1, सामान्य अध्ययन 2, सामान्य अध्ययन 3, नैतिकता और वैकल्पिक विषय शामिल हैं।भारतीय भाषा और निबंध के पेपर क्वालिफाइंग प्रकृति के होते हैं।

  • उम्मीदवार आधिकारिक अधिसूचना के रूपमें यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट से यूपीएससी मुख्यपरीक्षा पाठ्यक्रम 2022 पीडीएफ डाउनलोड कर सकते हैं।अंग्रेजी और हिंदी में मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम पीडीएफ डाउनलोड करने का सीधा लिंक भी यहां दिया गया है।


Follow us for latest updates