सामुदायिक वानिकी के कोई तीन उद्देश्य लिखिए।

By Raj Vimal|Updated : September 6th, 2022

भारत में सामाजिक वानिकी या सामुदायिक वानिकी की शुरूआत राष्ट्रीय कृषि आयोग ने साल 1976 में की थी। सामुदायिक वानिकी के तीन मुख्य उद्देश्य वनों में उपयोगी वृक्षों का रोपना, निजी क्षेत्रों में सहकारी सहयोग से जंगलों का विकास और प्रदूषण के खतरों को वनविकास से कम करना।

सामाजिक वानिकी का उपयोग

इसके अलावा इंधन, चारा और अन्य जरुरी उत्पाद की उपलब्धता पूरी करने के लिए सामाजिक वानिकी का उपयोग किया जाता है। हमने नीचे सामाजिक वानिकी के तीनों उद्देश्य को विस्तार से लिखा है।

  • उपयोगी वृक्षों का रोपण- वनों में फलों और अन्य जरुरी वृक्षों का रोपण कारने से आसपास के लोगों को उससे लाभ मिलेगा और रोजगार भी सृजित होंगे।
  • प्रदूषण के खतरों को कम करना - यह हम सभी जानते हैं कि पेड़ प्रदूषण के प्रभाव को कम कर देता है।
  • खाली स्थानों पर वृक्षारोपण - खाली जगह पर (निजी और सार्वजानिक) पेड़ों का रोपण करना।

Summary

सामुदायिक वानिकी के कोई तीन उद्देश्य लिखिए।

वनों में उपयोगी पेड़ लगाना, निजी खाली जमीन पर वृक्षारोपण, वनों का विकास ही सामुदायिक वानिकी तीन मुख्य उद्देश्य हैं। वनों और वृक्षों की उपयोगिता के बारे में शायद ही किसी मनुष्य को बताने की जरूरत हो।

Comments

write a comment

UPPSC

UP StateUPPSC PCSVDOLower PCSPoliceLekhpalBEOUPSSSC PETForest GuardRO AROJudicial ServicesAllahabad HC RO ARO RecruitmentOther Exams

Follow us for latest updates