समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग लिखिए।

By Ritesh|Updated : January 16th, 2023

विद्युत उत्पादन में, विस्फोटक तैयार करने में, चट्टानों की आयु पता लगाना समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग हैं ऐसे तत्व जिनकी परमाणु संख्या बराबर और परमाणु भार अलग होता है, उन्हें समस्थानिक (Isotopes) कहते है|  समस्थानिक तत्वों के हर परमाणु में प्रोटोन की संख्या बराबर और न्यूट्रॉन की संख्या भिन्न होती है। आइसोटोप में अद्वितीय गुण होते हैं, और ये गुण उन्हें निदान और उपचार अनुप्रयोगों में उपयोगी बनाते हैं। वे परमाणु चिकित्सा, तेल और गैस की खोज, बुनियादी अनुसंधान और राष्ट्रीय सुरक्षा में महत्वपूर्ण हैं।

समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग

रेडियो आइसोटोप के ऐसे प्रचलित उपयोगों और अनुप्रयोगों में, स्मोक डिटेक्टरों में; पुल और जेट एयरलाइनर निर्माण के लिए उपयोग किए जाने वाले इस्पात खंडों में खामियों का पता लगाने के लिए; पाइप (जैसे अलास्का पाइपलाइन), टैंक, जेट इंजन जैसी संरचनाओं पर वेल्ड की अखंडता की जांच करने के लिए।

आइसोटोप दो या दो से अधिक प्रकार के परमाणु होते हैं जिनकी परमाणु संख्या (उनके नाभिक में प्रोटॉन की संख्या), आवर्त सारणी की स्थिति और रासायनिक तत्व समान होते हैं, लेकिन न्यूट्रॉन की अलग-अलग संख्या होने के कारण अलग-अलग परमाणु संख्याएँ (द्रव्यमान संख्याएँ) होती हैं। यद्यपि किसी तत्व के प्रत्येक समस्थानिक के रासायनिक गुण लगभग समान होते हैं, उनके परमाणु द्रव्यमान और भौतिक गुण भिन्न होते हैं।

एक ही तत्व के परमाणु जिनकी परमाणु संख्या समान होती है, लेकिन द्रव्यमान संख्या भिन्न होती है, समस्थानिक कहलाते हैं। आइसोटोप का अनुप्रयोग। यूरेनियम के समस्थानिक का उपयोग परमाणु रिएक्टरों में ईंधन के रूप में किया जाता है।

  • यूरेनियम एक समस्थानिक है जिसका उपयोग परमाणु भट्टी (Atomic reactor) में ईंधन के तरह होता है।
  • घेंघा रोग में इलाज के लिए नामक में पाया जाने वाला आयोडीन इस्तेमाल होता है।
  • कैंसर के उपचार में कोबाल्ट संस्थानिक का प्रयोग होता है।
  • कार्बन डेटिंग या किसी चीज़ के उम्र का सही अनुमान लगाने के लिए भी समस्थानिकों का उपयोग होता है।
  • इनके अलावा भी अन्य मेडिकल कार्यों में समस्थानिकों का उपयोग होता है।

 

Summary:

समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग लिखिए।

समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग विद्युत उत्पादन में, विस्फोटक तैयार करने में, चट्टानों की आयु पता लगाना है। यह एक रासायनिक प्रतिक्रिया है जिसमें असमान और समान परमाणु संख्या वाले दोनों तत्व शामिल होते हैं। आइसोटोप में विशेष गुण होते हैं जो उन्हें निदान और उपचार के अनुप्रयोगों में उपयोगी बनाते हैं। वे राष्ट्रीय सुरक्षा, बुनियादी अनुसंधान, तेल और गैस की खोज और परमाणु चिकित्सा के लिए महत्वपूर्ण हैं।

Related Questions: 

Comments

write a comment

Follow us for latest updates