समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग लिखिए।

By Raj Vimal|Updated : September 7th, 2022

ऐसे तत्व जिनकी परमाणु संख्या बराबर और परमाणु भार अलग होता है, उन्हें समस्थानिक (Isotopes) कहते है| विद्युत उत्पादन में, विस्फोटक तैयार करने में, चट्टानों की आयु पता लगाना समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग हैं। समस्थानिक तत्वों के हर परमाणु में प्रोटोन की संख्या बराबर और न्यूट्रॉन की संख्या भिन्न होती है।

समस्थानिकों के अनुप्रयोग

  • यूरेनियम एक समस्थानिक है जिसका उपयोग परमाणु भट्टी (Atomic reactor) में ईंधन के तरह होता है।
  • घेंघा रोग में इलाज के लिए नामक में पाया जाने वाला आयोडीन इस्तेमाल होता है।
  • कैंसर के उपचार में कोबाल्ट संस्थानिक का प्रयोग होता है।
  • कार्बन डेटिंग या किसी चीज़ के उम्र का सही अनुमान लगाने के लिए भी समस्थानिकों का उपयोग होता है।
  • इनके अलावा भी अन्य मेडिकल कार्यों में समस्थानिकों का उपयोग होता है।

Summary 

समस्थानिक के तीन अनुप्रयोग लिखिए।

समस्थानिको का अनुप्रयोग ऊर्जा, उपचार और वस्तुओं के सही उम्र का पता लगाने में होता है।  यह एक रासायनिक प्रक्रिया है जिसके तत्वों के परमाणु भरा असमान और परमाणु संख्या बराबर होते हैं।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates