आरईसी (REC) लिमिटेड को मिला 'महारत्न' कंपनी का दर्जा - जानें क्या होती है ‘महारत्न’ कंपनियां

By Brajendra|Updated : September 26th, 2022

आरईसी (REC) लिमिटेड 'महारत्न' कंपनी का दर्जा पाने वाली देश की 12वीं कंपनी बन गई है। अभी तक महारत्न में केवल 11 कंपनी थी, REC के महारत्न के दर्जे के साथ कुल महारत्न कम्पनियों की संख्या 12 हो गई है।

आरईसी (REC) लिमिटेड को मिला 'महारत्न' कंपनी का दर्जा

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी आरईसी (REC Ltd.) को ‘महारत्न’ सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइज (CPSE) का दर्जा मिल गया है। आरईसी महारत्न का खिताब पाने वाली 12वीं कंपनी है।
आरईसी का गठन 1969 में हुआ था। यह गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) है जो देशभर में पावर सेक्टर के फाइनेंस और डेवलपमेंट पर केंद्रित है।

वर्तमान में कितनी महारत्न कंपनी हैं

वर्तमान में भारत में 12 महारत्न कम्पनियाँ है जो निम्न है -

1. SAIL
2. ONGC
3. NTPC
4. IOCL
5. GAIL
6. BHEL
7. BPCL
8. CIL
9. HPCL
10.PGCIL
11. PFCL
12. REL

महारत्न का दर्जा

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी को महारत्न कंपनी का दर्जा केंद्र सरकार के भारी उद्योग और सार्वजानिक उद्यम मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है। जिसकी शुरुआत वर्ष 2009 से हुई थी। अप्रैल 2010 में SAIL को सर्वप्रथम महारत्न का दर्जा प्रदान किया गया था। 
महारत्न एक उपाधि है जिसका उद्देश्य सार्वजानिक क्षेत्र के केंद्रीय उपक्रमों (CPSE) को बढ़ने तथा विश्व की बड़ी कंपनी के रूप में विकसित करना है।

महारत्न कंपनी का दर्जा प्राप्त करने के लिए शर्तें -

  • कंपनी नवरत्न में शामिल हो
  • शेयर बाजार में सूचीबद्ध हो
  • पिछले तीन वर्षों में कंपनी का औसत वार्षिक कारोबार 25000 करोड़ से अधिक हो
  • पिछले तीन वर्षों में कंपनी का औसत वार्षिक कुल मूल्य 15000 करोड़ से अधिक हो
  • पिछले तीन वर्षों में कंपनी का औसत वार्षिक शुद्ध लाभ 5000 करोड़ से अधिक हो।

आरईसी (REC) लिमिटेड को मिला 'महारत्न' कंपनी का दर्जा - Download PDF

उम्मीदवार नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आरईसी (REC) लिमिटेड को मिला 'महारत्न' कंपनी का दर्जा नोट्स हिंदी में डाउनलोड कर सकते हैं। इसके अलावा, हमने इसे बेहतर तरीके से समझने के लिए आपकी सुविधा के लिए वीडियो भी उपलब्ध कराया है।

सम्पूर्ण नोट्स के लिए PDF हिंदी में डाउनलोड करें
आरईसी (REC) लिमिटेड को मिला 'महारत्न' कंपनी का दर्जा विडियो विश्लेषण देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Other Important Articles:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates