नूरजहां का मूल नाम क्या था?

By Brajendra|Updated : August 1st, 2022

नूरजहां का वास्तविक नाम मेहरुन्निसा था। सत्रह वर्ष की अवस्था में मेहरुन्निसा का विवाह 'अलीकुली' नामक एक ईरानी युवक से हुआ था, जिसे जहाँगीर के राज्य काल के प्रारम्भ में शेर अफ़ग़ान की उपाधि और बर्दवान की जागीर दी गई थी। 1607 ई. में जहाँगीर के दूतों ने शेर अफ़ग़ान को एक युद्ध में मार डाला। मेहरुन्निसा को पकड़ कर दिल्ली लाया गया और उसे बादशाह के शाही हरम में भेज दिया गया। यहाँ वह बादशाह अकबर की विधवा रानी 'रुकईयाबेगम' की परिचारिका बनी। मेहरुन्निसा को जहाँगीर ने सर्वप्रथम नौरोज़ त्यौहार के अवसर पर देखा और उसके सौन्दर्य पर मुग्ध होकर जहाँगीर ने मई, 1611 ई. में उससे विवाह कर लिया। विवाह के पश्चात् जहाँगीर ने उसे ‘नूरमहल’ एवं ‘नूरजहाँ’ की उपाधि प्रदान की थी।

Summary:

नूरजहां का मूल नाम क्या था?

नूरजहाँ का मूल नाम मेहरुन्निसा था। जहांगीर ने उसे नूरमहल एवं नूरजहाँ की उपाधि प्रदान की थी। जहांगीर ने नूरजहां नूरमहल एवं नूरजहाँ की उपाधि प्रदान की थी।

Related Link:

 

Comments

write a comment

Follow us for latest updates