मृदा संरक्षण के दो उपाय लिखिए।

By Raj Vimal|Updated : September 5th, 2022

मृदा संरक्षण का अर्थ है मिट्टी को अपने जगह पर रोके रखना। पुरे विश्व में मिट्टी का कटाव रोकने और उनके संरक्षण के लिए स्थिति के अनुसार अलग तरीके अपनाया जाता है। वनों की रक्षा करना और सघन वृक्षारोपण करना दो मुख्य मृदा संरक्षण के उपाय हैं। इसके अलावा भी कई विधि है जिसका इस्तेमाल प्रैक्टिकल तौर पर किया जा सकता है।

सघन वृक्षारोपण- ढलान जगह पर वृक्षों को लगाना एक कारगर उपाय है। इन पेड़ों के जडें मृदा को पकडे रखते हैं और तेज पानी के बहाव में भी मिट्टी को बहने नहीं देते हैं। इससे वह इलाका आसानी से मृदा संरक्षण कर पाता है।

वनों की रक्षा - वनों की रक्षा का महत्त्व और उद्देश्य बिलकुल वृक्षारोपण का ही है। अधिक पेड़ों से मिट्टी एक स्थान पर ज्यादा समय तक रुकी हुई होती है।

Summary

मृदा संरक्षण के दो उपाय लिखिए।

वृक्षारोपण और वनों की रक्षा मृदा संरक्षण के दो मुख्य उपाय हैं। इनके पत्तियां जब जमीन पर गिरती हैं तो बारिश के तेज धारा भी मिट्टी को प्रभावित नहीं कर पाते हैं।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates