मौसमी बेरोजगारी किसे कहते हैं?

By Sakshi Yadav|Updated : July 29th, 2022

जब उपलब्ध रोजगार के अवसरों की संख्या घट जाती है तो उससे मौसमी बेरोजगारी कहते है। मौसमी बेरोजगारी या चक्रीय बेरोजगारी का नाम व्यापार चक्र (Business Cycle) में बार-बार होने वाले उतार-चढ़ाव के कारण लिए गया है। जब व्यापार चक्र नीचे होता है, तो कम श्रमिकों की आवश्यकता होती है, उत्पादन कम होने के कारण, यह वस्तुओं और सेवाओं की मांग में कमी के कारण होता है। चूंकि केवल कुछ श्रमिकों की आवश्यकता होती है, तो इसका परिणाम बेरोजगारी में होता है।

Summary:

मौसमी बेरोजगारी किसे कहते हैं?

बेरोजगारी को बेरोजगारी दर (Unemployment rate) से मापा जाता है, जो कि श्रम बल के प्रतिशत के रूप में बेरोजगार लोगों की संख्या है।ओईसीडी (आर्थिक सहयोग और विकास संगठन) के अनुसार, बेरोजगारी को एक निर्दिष्ट आयु (आमतौर पर 15) से ऊपर के व्यक्तियों की संख्या के रूप में परिभाषित किया गया है, जो भुगतान किए गए रोजगार या स्व-रोजगार में नहीं हैं, लेकिन वर्तमान में संदर्भ अवधि के दौरान काम के लिए उपलब्ध हैं।

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates