केन्द्रक का कार्य क्या है?

By Raj Vimal|Updated : September 8th, 2022

वैज्ञानिक रोबर्ट ब्राउन ने साल 1831 में केन्द्रक की खोज किया था। समस्त जीव क्रियाओं का नियन्त्रण करना, कोशिका के विभाजन में हिस्सा लेना, आनुवंशिक गुणों का अगली पीढ़ी में पहुंचाना आदि केन्द्रक का महत्वपूर्ण कार्य है। सामान्यत: हर एक कोशिका में केवल एक ही केन्द्रक होता है।

केन्द्रक के चार भाग होते हैं।

  • केन्द्रक कला
  • केन्द्रक द्रव्य
  • केंद्रिका
  • क्रोमैटिन धागे

केन्द्रक के कार्य

  • यह एक जीव के वंशानुगत गुणों को नियंत्रित करता है।
  • एक जीव के जेनेटिक्स गुणों को दुसरे पीढ़ी तक पहुँचाना।
  • न्यूक्लियलस में प्रोटीन और RNA का संचयन करता है।
  • कोशिका विभाजन में भाग लेना।
  • राइबोसोम का जनन करना।
  • केन्द्रक और अन्य जीवित कोशिकाओं के बीच अनुवांशिक गुणों का आदान प्रदान करना।
  • केन्द्रक का निर्माण 85% प्रोटीन, 10% R-RNA और 5% डीएनए से होता है।

Summary

केन्द्रक का कार्य क्या है?

केन्द्रक हमारे शरीर की कोशिकाओं का अभिन्न भाग है। केन्द्रक कार्य यह है कि कोशिकाओं को बाँटने अहम हिस्सा होना, शरीर में राइबोसोम का उत्पादन करना, वंशानुगत गुणों को आगे बढ़ाना आदि।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates