जैव एकाधिकार पर एक संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

By Raj Vimal|Updated : September 5th, 2022

जैव एकाधिकार का तात्पर्य है कि जब किसी कंपनी या व्यक्ति के पास ही किसी शोध द्वारा प्राप्त खोज का पेटेंट करवा लेते हैं तो उस खोज पर उस संस्था या व्यक्ति का अधिकार हो जाता है। आसान भाषा में, जैव एकाधिकार सरकार द्वारा जारी एक दस्तावेज़ है जो किसी व्यक्ति या संस्था को किसी विशेष पदार्थ का एकाधिकार देता है।

जैव एकाधिकार 

इसके बाद उस निश्चित पदार्थ का इस्तेमाल उस व्यक्ति के अलावा और कोई नहीं कर सकता, बिना उसकी लिखित अनुमति के। जैव एकाधिकार उस संस्था या व्यक्ति को उस पदार्थ पर पूरा अधिकार देती है। इसी पेटेंट के द्वारा वह पैसे भी कमाते हैं। 

उदाहरण के लिए जिलेट नाम की कम्पनी ने पहली बार बने ब्लेड का पेटेंट करवाया था, जिसकी अवधि 25 साल थी। इसके अनुसार उस तरह का ब्लेड बनाने का अधिकार सिर्फ उस कंपनी के पास था। अगर कोई और ऐसा करना चाहता तो उसे नियमों के उल्लंघन पर सजा मिलती है।

Summary

जैव एकाधिकार पर एक संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

जैव एकाधिकार वह अधिकार है जिसके तहत किसी व्यक्ति या संस्था को एक वस्तु पर सम्पूर्ण अधिकार मिलता है। इसके बाद उसका इस्तेमाल उस व्यक्ति या संस्था के अलावा कोई नहीं कर सकता, जब तक उसके पास लिखी अनुमति हो।

Related Articles

Comments

write a comment

Follow us for latest updates