ग्रंथियों के आधार पर विभिन्न प्रकार के व्यक्तित्वों का वर्णन किस ने किया था?

By Sakshi Yadav|Updated : August 26th, 2022

केनन ने ग्रंथियों के आधार पर विभिन्न प्रकार के व्यक्तित्वों का वर्णन ने किया था। व्यक्तित्व मनुष्य की सोच, भावना और व्यवहार के विशिष्ट पैटर्न में को बताता है। इसमें व्यक्ति, उसके शारीरिक, भावनात्मक, सामाजिक, मानसिक और आध्यात्मिक श्रृंगार के बारे में सब कुछ शामिल होता है।

ग्रंथियों के प्रकार 

ग्रंथियां दो प्रकार की होती हैं: वाहिनी ग्रंथियां और डक्टलेस ग्रंथियां

वाहिनी ग्रंथियां 

  • वाहिनी ग्रंथियां नलिकाओं और चैनलों के माध्यम से अपने तरल पदार्थ का स्राव करती हैं।
  • ये ग्रंथियां पाचन प्रक्रिया में मदद करती हैं।
  • इस ग्रंथियां के अनुसार पाचन क्रिया ठीक हो तो व्यक्ति स्वस्थ्य रहता है।

डक्टलेस ग्रंथियां

  • डक्टलेस ग्रंथियां मानव गतिविधियों की भावनात्मक स्थिरता और स्वभाव पर बहुत आसर डालती हैं।
  • ये ग्रंथियों स्रावित हार्मोन व्यक्तित्व निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभति हैं।
  • इसमें तीन महत्वपूर्ण नलिकाविहीन ग्रंथियां भी शामिल हैं:

थायराइड ग्रंथियां: :वे व्यक्ति को सतर्कता और कुशलता देते हैं।

अधिवृक्क ग्रंथि: ये छोटी ग्रंथियां हैं जो प्रत्येक गुर्दे की सतह पर स्थित होती हैं।

पीयूष ग्रंथि: ये ग्रंथियां मस्तिष्क के आधार पर और सिर के मध्य में स्थित होती हैं। यह एक वृद्धि ग्रंथि है।

Summary

ग्रंथियों के आधार पर विभिन्न प्रकार के व्यक्तित्वों का वर्णन किस ने किया था?

ग्रंथियों के आधार पर विभिन्न प्रकार के व्यक्तित्वों का वर्णन केनन ने किया था। केनन के अनुसार ग्रंथियां दो प्रकार की होती हैं: वाहिनी ग्रंथियां, डक्टलेस ग्रंथियां।

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates