घर्षण बल किसे कहते हैं?

By Raj Vimal|Updated : August 31st, 2022

घर्षण बल वह बल है जो संपर्क बल का वह घटक है, जो संपर्क के समानांतर लगता है। उदाहरण के लिए किसी वस्तु को मेज पर सरकाना आसन भाषा में, जब किसी वस्तु को अन्य वस्तु पर गति प्रदान करने की कोशिश की जाती है तब उनके तल आपस में सम्पर्क कर रहे होते हैं। इन्हीं तलों के बीच वह बल उत्पन्न होता है, जो एक दुसरे के सापेक्ष गति का विरोध करता है। यही बल घर्षण बल कहलाता है।

घर्षण बल का कारण

मुख्यत: हम जानते हैं कि कोई भी वस्तु पूर्ण रूप से चिकनी नहीं होती। इन सतहों पर सूक्ष्मदर्शी से देखने पर इनके उपर उठे और गड्ढे भागों को देखा जा सकता है। इस तरह की दो सतहों को जब एक दुसरे से स्पर्श करवाया जाता है तो इन्ही सूक्ष्म उभार और गड्ढों में वह फंस जाते हैं। अब इन्हें खिसकने के लिए बल लगाना होता है। जब एक वस्तु के उल्टी दिशा में बल कार्य करता है, तो वह घर्षणबल कहलाता हैं।

Summary 

घर्षण बल किसे कहते हैं?

दो वस्तुओं के चिपके तल के कारण जो वस्तुओं में गति प्रदान होने से रोकता है वह घर्षण बल कहलाता है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण गाड़ियों में ब्रेक लगाने पर घर्षण बल लगता है।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates