DNA की खोज किसने की?

By K Balaji|Updated : December 1st, 2022

डीएनए (DNA) की खोज सबसे पहले जेम्स वॉटसन और फ्रान्सिस क्रिक ने की थी| जेम्स वॉटसन और फ्रान्सिस क्रिक ने यह खोज उन्होंने १९५३ में की और इस खोज के लिए उन्हें सन 1963 में नोबेल पुरस्कार सम्मानित किया गया। 8 अप्रैल 1928 को जेम्स वॉटसन का जन्म शिकागो में हुआ था। उन्होंने प्राणीशास्त्र की पढ़ाई शिकागो विश्वविद्यालय में की और उसके बाद इंडियाना विश्वविद्यालय से पी.एच.डी. की डिग्री प्राप्त की। १९५० में, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में फ्रांसिस क्रिक के साथ काम करते हुए, उन्होंने डीएनए की खोज की।

DNA के खोजक

वाटसन और क्रिक ने डीएनए के खोज के बाद उन्होंने ने हाइड्रोजन आबंध से जुड़े दो सूत्र वाले डीएनए की द्विकुंडलित संरचना का भी प्रस्ताव रखा। डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड दो पॉलीन्यूक्लियोटाइड श्रृंखलाओं से बना एक बहुलक है जो एक डबल हेलिक्स बनाने के लिए एक दूसरे के चारों ओर कुंडल करता है। बहुलक सभी ज्ञात जीवों और कई वायरस के विकास, कार्य, वृद्धि और प्रजनन के लिए अनुवांशिक निर्देश देता है।

डीएनए और राइबोन्यूक्लिक एसिड न्यूक्लिक एसिड हैं। प्रोटीन, लिपिड और जटिल कार्बोहाइड्रेट के साथ, न्यूक्लिक एसिड जीवन के सभी ज्ञात रूपों के लिए आवश्यक चार प्रमुख मैक्रोमोलेक्यूल्स में से एक है। डीएनए (DNA) जिसका फुल फॉर्म है डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड (Deoxyribonucleic Acid) का पूर्ण रूप होता हा| DNA एक ऐसा पदार्थ है जो हर प्राणी के अंदर पाया जाता है जैसे कि सूक्ष्म जीव, विशाल वृक्ष हो या मानव| डीएनए को 5 भाग में विभाजित किया जाता है जो की कुछ इस प्रकार से हैं:

  • एडेनिन (ए),
  • साइटोसिन (ए) (सी),
  • गुआनिन (जी),
  • थाइमिन (टी)
  • यूरासिल (यू)

Summary:

DNA की खोज किसने की?

DNA की खोज सन 1953 में सर्वप्रथम जेम्स वॉटसन और फ्रान्सिस क्रिक ने की थी। इस खोज के लिए उन्हें सन 1963 में नोबेल पुरस्कार सम्मानित किया गया। डीएनए हर जीवित कोशिका में पाया जाने वाला गुणसूत्र है। डीएनए एक दोहरे सर्पिल के आकार में होता है जो एक साथ बंधा होता है। इसमें डीएनए अणु होता है जो आनुवंशिक जानकारी जैसे बालों का रंग, नाक का आकार आदि निर्धारित करने के लिए जिम्मेदार होता है।

Related Questions:

Comments

write a comment

Featured Articles

Follow us for latest updates