Time Left - 15:00 mins

CTET -2 (Social Science) Mini Mock Test 2022 : 18

Attempt now to get your rank among 561 students!

Question 1

In which of the following instructional material computer-based resources such as the Internet are used to present, reinforce and assess material?

Question 2

In a progressive classroom, assessment of learners during the process of teaching-learning –

Question 3

Direction: Read the passage given below and answer the questions that follow by selecting the most appropriate options:

Now the question arises, what is the secret of the longevity and imperishability of Indian culture? Why is it that such great empires and nations is Babylon, Assyria, Greece, Rome and Persia, could not last more than the footprints of a camel on the shifting sands of the desert, while India which faced the same ups and downs, the same mighty and cruel hand of time, is still alive and with the same halo of glory and splendor? The answer is given by Prof. J. B. Pratt of America. According to him Hindu religion is the only religion in the world which is 'self-perpetuating and self-renewing.' Unlike other religions 'not death, but development' has been the fate of Hinduism. Not only Hindu religion but the whole culture of the Hindus has been growing changing and developing in accordance with the needs of time and circumstance without losing its essential and imperishable spirit. The culture of the Vedic ages, of the ages of the Upanishads, the philosophical systems, the Mahabharata, the Smritis, the Puranas, the commentators, the medieval saints and of the age of the modern reformers is the same in Spirit and yet very different in form. Its basic principles are so broad based that they can be adapted to almost any environment of development.



The author has compared India with all the following except _________.

Question 4

Directions: Read the passage given below carefully and answer the questions that follow by selecting the correct/most appropriate options.
A. There is something we all want to do, although few of us readily admit it: Get rid of guests.
B. For nine months in the year, only my closes friends come to see me. Then, when temperatures start soaring in the plains, long-lost acquaintances suddenly remember that I exist, and people whom I am barely able to recognize appear at the front door, willing to have me put them up for periods ranging from six days to six weeks.
C. Occasionally, I am the master of the situation I inform them that the cottage is already bursting, that people are sleeping on the floor. If the hopefuls start looking around for signs of these uncomfortable guests. I remark that they have all gone out for a picnic.
D. The other day I received visitors who provided to be more thick-skinned than most. The man was a friend of a friend of an acquaintance of mine. I had never seen him before. But on the strength of this distant relationship, he had brought his family along.
E. I tried the usual ploy but it didn’t work. The man and his family were perfectly willing to share the floor with any others who might be staying with me.
F. So I made my next move. ‘I must warn you about the scorpions’, I said. The scorpion-scare is effective with most people. But I was dealing with professionals. The man set his son rolling up the carpet. ‘Sometimes centipedes fall from the ceiling’, I said desperately.
G. We were now interrupted by someone knocking on the front door. It was the postman with a rejected manuscript, his arrival inspired me to greater inventiveness.
H. ‘I’m terribly sorry’, I said, staring hard at a rejection slip. I’m afraid I have to leave immediately. A paper wants me to interview the Maharishi. I hope you won’t mind. Would you like the name of a good hotel?’
I. Oh, don’t worry about us’, said the woman expansively. ‘We’ll look after the house while you are away.’
Which of the following words is similar in meaning to the word, ‘readily’ (Para 1) as used in the passage?

Question 5

Directions: Read the poem given below and answer the questions that follow) by selecting the correct/not appropriate options:

I think that I shall never see

A poem lovely as a tree.

A tree whose hungry mouth is prest

Against the earth’s sweet flowing breas;

A tree that looks at God all day,

And lifts her leafy arms to pray;

A tree that may in Summer wear

A nest of robins in her hair;

Upon whose bosom snow has lain;

Who intimately lives with rain.

Poems are made by fools like me,

But only God can make a tree.

The tree presses its mouth against the sweet earth’s flowing breast to

Question 6

Direction: Answer the following questions by selecting the correct/most appropriate options.
Who would be the implementer of education?

Question 7

निर्देश: निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर इस पर आधारित प्रश्नों के उचित उत्तर दीजिए

जिंदगी को मौत के पंजों से मुक्त कर उसे अमर बनाने के लिए आदमी ने पहाड़ काटा है। किस तरह इंसान की विशेषताओं की कहानी सदियों बाद आने वाली पीढ़ियों तक पहुंचाई जायें। इसके लिए आदमी ने कितनी युक्तियां सोची और उन्हें किया। उसने चट्टानों पर अपने संदेश खोदे, ताडों से ऊंचे, धातुओं से चिकने पत्थर के खंभे खड़े किए, तांबे और पीतल के पत्थरों पर अक्षरा के मोती बिखेरे और उसके जीवन- मरण की कहानी सदियों के उतार पर सरकती चली आयी, चली आ रही है, जो आज हमारी अमानत- विरासत बन गई है।

आज से कोई लगभग सवा हज़ार साल पहले से ही हमारे देश में पहाड़ काटकर मंदिर बनाने की परिपाटी चल पड़ी थी। अजंता की गुफाएं पहाड़ काटकर बनाई जाने वाली देश की सबसे प्राचीन गुफाओं में से हैं, जैसे एलोरा और एलीफेंटा की सबसे पिछले काल की देश की गुफाओं या गुहा- मंदिरों में सबसे विख्यात अजंता के हैं, जिसकी दीवारों और छतों पर अंकित चित्र दुनिया के नमूने बन गए हैं। चीन के तुन- हुआंग और श्रीलंका के सिमिरिया की पहाड़ियां दीवारों पर उसी के नमूने के चित्र नकल कर लिए गए थे और जब अजंता के चित्रों ने विदेशों को इस प्रकार अपने प्रभाव से निहाल किया तब भला अपने देश के नगर- देहात और उनके प्रभाव से कैसे निहाल ना होते बाघ और सित्तनवासल की गुफाएं उसी अजंता की परंपरा में है, जिनकी दीवारों पर जैसे प्रेम और दया की एक दुनिया ही सिरज गई है।

भारत देश में पहाड़ों को काटकर मंदिर बनवाने की प्रथा कितनी पुरानी है?

Question 8

निर्देश: नीचे दिए गए अनुच्छेद को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सही/ सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए -

जलवायु परिवर्तन विश्व की सबसे ज्वलंत पर्यावरणीय समस्याओं में से एक हैं। नवम्बर-दिसम्बर मध्य तक ठण्ड का अहसास नहीं होना, फरवरी – मार्च तक सर्दी पड़ना, अगस्त- सितम्बर से वर्षा होना तथा अक्टूवर – नवम्वर माह तक गर्मी पड़ना, तापक्रम ज्यादा होना, ये सब कुछ मौसम में होने वाले बदलाव के कारण होता है। मौसम, किसी भी स्थान की औसत जलवायु होती है जिसे कुछ समयावधि के लिए वहां अनुभव किया जाता है। इस मौसम को तय करने वाले मानकों में वर्षा, सूर्य, प्रकाश, हवा, नमी व तापमान प्रमुख हैं। मौसम में बदलाव काफी जल्दी होता है लेकिन जलवायु में बदलाव आने में काफी समय लगता है। और इस समय पृथ्वी के जलवायु में परिवर्तन हो रहा है, कोई नहीं जानता की गर्मी की कितनी मात्रा सुरक्षित है। पर हमें यह जरूर पता है की जलवायु परिवर्तन लोगों एवं पारिस्थितिकी तंत्र को पहले से ही नुकसान पहुंचा रहा है। इसकी सच्चाई ग्लेशियरों के पिघलने, ध्रुवीय बर्फ में खंडित होने, परिहिमानी क्षेत्र के विगलन, मानसून के तरीकों में परिवर्तन, समुद्र के बढ़ते जलस्तर, बदलते पारिस्थितिक तंत्र एवं घातक गर्म तरंगों में देखी जा सकती हैं।
इस परिवर्तन के लिये एक प्रकार से प्राकृतिक गतिविधियां तथा मानवीय क्रिया- कलाप ही जिम्मेदार है। प्राकृतिक कारण जलवायु परिवर्तन के लिये जिम्मेदार हैं। इनमें से प्रमुख हैं - महाद्वीपों का खिसकना, ज्वालामुखी, समुद्री तरंगें और धरती का घुमाव। तथा मानवीय कारण, पृथ्वी द्वारा सूर्य से ऊर्जा ग्रहण की जाती है जिसके चलते धरती की सतह गर्म हो जाती है। जब ये ऊर्जा वातावरण से होकर गुजरती है, तो कुछ मात्रा में , लगभग 30 प्रतिशत ऊर्जा वातावरण में ही रह जाती है। इस ऊर्जा का कुछ भाग धरती की सतह तथा समुद्र के जरिये परावर्तित होकर पुन: वातावरण में चला जाता है। वातावरण की कुछ गैसों द्वारा पूरी पृथ्वी पर एक परत सी बना ली जाती है वे इस ऊर्जा का कुछ भाग भी सोख लेते है। इन गैसों में शामिल होती है कार्बन डाइऑक्साइड, मिथेन, नाइट्रस ऑक्साइड व जल कण, जो वातावरण के 1 प्रतिशत से भी कम भाग में होती है। इन गैसों को ग्रीन हाउस गैसे भी कहते हैं। औद्योगिक कारणों से निकालने वाली गैसे क्लोरोफ्लोरोकार्बन, ऑटोमोबाईल से निकलने वाले धुंए के कारण ओजोन परत के निर्माण में बाधा उत्पन्न करते है जिसके कारण ग्रीन हाउस गैसों में असंतुलन उत्पन्न हो रहा जो वातावरण में ताप मान वृद्धि का प्रमुख कारण है।

निम्नलिखित में से कौन से जलवायु परिवर्तन के लक्षण हैं?

Question 9

अंतनिर्हित क्षमता का संबंध _________ के साथ है|

Question 10

निर्देशः कविता को पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों में सबसे उचित विकल्प चुनिए ।
हरा भरा हो जीवन अपना स्वस्थ रहे संसार,
नदियाँ, पर्वत, हवा, पेड़ से आती है बहार ।
बचपन, कोमल तन-मन लेकर,
आए अनुपम जीवन लेकर,
जग से तुम और तुमसे है ये प्यारा संसार,
हरा-भरा हो जीवन अपना स्वस्थ रहे संसार,
वृंद-लताएँ, पौधे, डाली
चारों ओर भरे हरियाली
मन में जगे उमंग यही है सृष्टि का उपहार,
हरा-भरा हो जीवन अपना स्वस्थ रहे संसार
मुश्किल से मिलता है जीवन,
हम सब इसे बनाएँ चंदन
पर्यावरण सुरक्षित न हो तो है सब बेकार
हरा-भरा हो जीवन अपना स्वस्थ रहे संसार
कौन सी चीजे़ं बहार लेकर आती हैं ?

Question 11

निर्देश:- अधोलिखितं गद्यांशं पठित्वा उत्तराणि लिखत (1-9)

अस्मिन् ब्रह्माण्डे बहूनि ग्रहनक्षत्राणि सन्ति। आकाशे मङ्गल- बुद्ध- गुरु आदिषु ग्रहनक्षत्रेषु सूर्योSपि एकं नक्षत्रम् अस्ति। अस्य प्रकाशेण एव पृथ्वी - चंद्रादय: प्रकाशन्ते। नक्षत्रमेतत् ऊर्जस: महास्रोत: अस्ति। वैज्ञानिका: अस्य ऊर्जसं प्रति विशेषेण उन्मुखा: सन्ति। सूर्य: सन्सारस्य प्रकाशक: । अस्य ऊष्मण: आधिक्येन वसन्त- ग्रीष्म- वर्षा: अनाधिक्येन च शरद्धेमन्तशिशिराश्च ऋतव: भवन्ति।

जीवानां स्वास्थ्याय अपि सूर्यस्य महती भूमिका अस्ति । कतिपया: योगक्रिया: अस्यातपे एव क्रियन्ते। ऋषे: अर्थवण: मते उदीयमानस्य सूर्यस्य रश्मिभि: शिरोवेदनां दूरिकर्तुं शक्यते । अतः प्राकृतिक चिकित्सारूपेण सूर्य: अस्माकम् उपकारक: । शारीरिकशास्त्रे सूर्यस्य रश्मिसेचनं सूर्यस्नानम् इति रूपेण प्रसिद्धम् । पादपानां वनस्पतिनां विकासोSपि सूर्यष्योमाणं विना न सम्भवति। अतः भूतले सर्वेषां जीवनं सूर्याधारितमेव।

उपकारं करोति इत्यस्य कृते: क: शब्द: अनुच्छेदे प्रयुक्त: । तत लिखत-

Question 12

अधोलिखितान् श्लोकान् पठित्वा प्रश्नानां विकल्पात्मकोत्तरेभ्यः उचिततमम् उत्तरं चित्वा लिखत -

अश्रद्धा परमं पापं, श्रद्धा पापप्रमोचिनी

जहाति पापं श्रद्धावान्, सर्पो जीर्णामिव त्वचाम् ।। (1)

दूरेऽपि सज्जना: भान्ति, हिमवन्नगसन्निभाः।

असन्तो नैव दृश्यन्ते, रात्रिक्षिप्ता: शरा यथा ।। (2)

भक्तिर्देवे मतिधर्म, शक्तिस्त्यागे रतिः श्रुतौ

दया सर्वेषु भूतेषु, स्यान्मे जन्मनि जन्मनि ।। (3)

आयुषः क्षण एकोऽपि, सर्वरत्नैर्न लभ्यते।

नीयते वृथा येन, प्रमादः सुमहानहो ।। (4)

स्वभावो नोपदेशेन, शक्यते कर्तुमन्यथा।

सुतप्तमपि पानीयं, पुनर्गच्छति शीतताम् ।। (5)

दुर्जनः सुजनीकर्तुं, यत्नेनापि शक्यते

संस्कारेणापि लशुनं, कः सुगन्धीकरिष्यति ।। (6)

उपदेशेन स्वभावः

Question 13

बहुश्लोककण्ठस्थीकरणं कस्यां परीक्षायाम् अपेक्ष्यते ?

Question 14

Directions: Answer the following questions by selecting the most appropriate option.
Rigveda was originally composed in

Question 15

The Indian Parliament consists of ______.
  • 561 attempts
  • 2 upvotes
  • 11 comments
Dec 3CTET & State TET Exams