कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता है?

By Sakshi Yadav|Updated : August 24th, 2022

कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैबेज को कहा जाता है। वो एक अंग्रेजी बहुश्रुत(polymath) थे। उन्होंने विश्लेषणात्मक इंजन (analytical engine) का आविष्कार किया था, विश्लेषणात्मक इंजन में ALU (अंकगणितीय तर्क इकाई), मूल प्रवाह नियंत्रण (basic flow control), एकीकृत मेमोरी ( integrated memory) शामिल होती है। हालांकि पैसो की कमी की वजह से, चार्ल्स बैबेज के जीवित रहते हुए कंप्यूटर नहीं बन पाया था।

कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैबेज पर महत्वपूर्ण जानकारी 

  • 1910 में, चार्ल्स बैबेज के सबसे छोटे बेटे हेनरी बैबेज ने मशीन के एक हिस्से को पूरा किया था जो बुनियादी गणना(basic calculation) कर सकते थे। वही 1991 में, लंदन साइंस म्यूजियम ने एनालिटिकल इंजन नंबर 2 के वर्किंग वर्जन को पूरा किया था। इस वर्जन में बैबेज के रिफाइनमेंट शामिल थे, जिसे उन्होंने एनालिटिकल इंजन के निर्माण के दौरान बनाया था। 
  • कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो सूचना, या डेटा को इधर-उधर करता है। इसमें डेटा को स्टोर करने, पुनर्प्राप्त करने और बदलने की क्षमता होती है। इसका प्रयोग दस्तावेज़ लिखने, ईमेल भेजने, गेम खेलने और वेब ब्राउज़ करने के लिए होता हैं।
  • किसी भी कंप्यूटर के चार बुनियादी कार्य होते हैं: इनपुट, स्टोरेज, प्रोसेसिंग और आउटपुट।

Summary 

कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता है?

चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का जनक कहा जाता है। इन्होने विश्लेषणात्मक इंजन की खोज की थी, जिसमे ALU (अंकगणितीय तर्क इकाई), मूल प्रवाह नियंत्रण (basic flow control), एकीकृत मेमोरी (integrated memory) थी।

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates