कोडोन और एंटीकोडोन क्या है?

By Raj Vimal|Updated : September 6th, 2022

हर जीवित प्राणियों में RNA और DNA मौजूद होते हैं, जो उनके अनुवांशिक गुणों से जोड़ कर जाने जाते हैं। कोडोन mRNA में स्थित नाइट्रोजन के क्षारक का एक ट्रिप्लेट (Triplate) क्रम होता है। यह DNA अणु से प्रतिकृत होता है।

एंटीकोडोन RNA में स्थित 3 नाइट्रोजन के क्षारकों का विशिष्ट क्रम होता है, जो प्रोटीन संश्लेषण (Protein Synthesis) के क्रम में अमीनो अम्ल (Amino Acid) को संश्लेषण स्थल तक ले जाने वाले t-RNA द्वारा mRNA के कोडॉन से बंध बनाता है। जैस - m-RNA के AUG कोडॉन हेतु मिथियोनिन (Methionine) नाम का अमीनो अम्ल वाहक t-RNA के एंटीकोडॉन लूप पर UAC नामक एंटीकोडॉन होता है। ऊपर के परिभाषा आपको कोडोन और एंटीकोडॉन में अंतर समझने में मदद करेगा

Summary

कोडोन और एंटीकोडोन क्या है?

एण्टीकोडॉन (Anticodon) या एण्टीकोडॉन, t-RNA की एण्टीकोडॉन भुजा के आखिरी छोर पर पाया जाने वाला तीन क्षारकों का अनुक्रम है। वहीँ कोडोन को आनुवंशिक कूट के तीन न्यूक्लियोटाइडों का उस क्रम के रूप में परिभाषित करते हैं जो एक ऐमीनो अम्ल को कोडित करता है।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates