चित्रावली किस कवि की रचना है? 

By Sakshi Yadav|Updated : September 5th, 2022

चित्रावली उसमान कवि की रचना है। इस पुस्तक को सन 1022 हिजरी अर्थात् 1613 ईसवी में उसमान द्वारा लिखी गई थी। उसमान शाह निज़ामुद्दीन चिश्ती की शिष्य परंपरा में 'हाजी बाबा' के शिष्य थे। इस पुस्तक में उन्होंने स्तुति के उपरांत पैग़म्बर, चार ख़लीफ़ों तथा बादशाह जहाँगीर, शाह निज़ामुद्दीन और हाजी बाबा की प्रशंसा लिखी है। वही कवि उसमान ने इस रचना में मलिक मुहम्मद जायसी का भी पूरा अनुकरण किया है। उसमान ने चित्रावली पुस्तक में गाजीपुर नगर और अपना परिचय देते हुए लिखा है कि:

आदि हुता विधि माथे लिखा । अच्छर चारि पढ़ै हम सिखा।

देखत जगत् चला सब जाई । एक वचन पै अमर रहाई।

वचन समान सुधा जग नाहीं । जेहि पाए कवि अमर रहाहीं।

मोहूँ चाउ उठा पुनि हीए । होउँ अमर यह अमरित पीए।

Summary

चित्रावली किस कवि की रचना है? 

उसमान ने चित्रावली की रचना की है। इस पुस्तक को सन 1613 ईसवी में लिखा गया था। उसमान शाह निज़ामुद्दीन चिश्ती की शिष्य परंपरा में 'हाजी बाबा' के शिष्य थे। उसमान की गणना सूफ़ी कवियों में की जाती है। ऐसा कहा जाता है की ये मुग़ल बादशाह जहाँगीर के समय तक जीवित थे।

Related Links:

 

Comments

write a comment

Follow us for latest updates