बीजक किसकी रचनाओं का संग्रह है?

By Sakshi Yadav|Updated : September 5th, 2022

बीजक कबीर की रचनाओं का संग्रह और ये कबीरपंथी धर्म के अनुयायियों के लिए पवित्र ग्रंथ भी है। बीजक में मुख्य रूप से कबीर के दोहे, कविताएँ और धर्मनिरपेक्ष विचार शामिल थे क्योंकि उन्होंने हिंदुओं और मुसलमानों दोनों की प्रथाओं की आलोचना की थी। बीजक आधुनिक बघेली के प्रमुख ग्रंथों में से एक है। बीजक" शब्द का अर्थ एक संकलन / मार्गदर्शक होता है।

बीजक कितने भागो में विभाजित है?

बीजक में तीन मुख्य खंड शामिल हैं जिन्हें रमैनी, शब्दा और साखी कहा जाता है, वही इसका एक चौथा खंड भी है जिसमे सिर्फ लोकगीत हैं।

सखी - ये दोहा या दोहे के रूप में लिखी गई है।

रमैनी - ये चौपाई के रूप में लिखी जाती है और आमतौर पर संगीत राग पर आधारित होती है।

शब्दा और चौथा खंड में कविताएँ और लोक गीत लिखे गए है। 

कबीर कौन थे?

संत कबीर दास को उत्तरी भारत में भक्ति और सूफी आंदोलन का सबसे प्रभावशाली और उल्लेखनीय कवि माना जाता है। उनकी कुछ प्रसिद्ध रचनाओं में कबीर बीजक, सुखनिधन, होली अगम, शब्द, वसंत, साखी और रक्त शामिल हैं.

Summary

बीजक किसकी रचनाओं का संग्रह है?

कबीर ने बीजक रचनाओं का संग्रह किया था। बीजक कई लोकगीत और आधुनिक बघेली के प्रमुख ग्रंथों में से एक है। इसे तीन मुख्य खंड में बाटा गया है। कबीर एक मौखिक कवि थे, जिनकी रचनाएँ दूसरों ने लिखीं थी।

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates