भारत में पहला परमाणु ऊर्जा केंद्र कहाँ स्थापित किया गया था?

By Sakshi Yadav|Updated : August 24th, 2022

भारत में पहला परमाणु ऊर्जा केंद्र महाराष्ट्र के तारापुर नमक जगह में स्थापित किया गया था। इसका नाम तारापुर परमाणु रिएक्टर रखा गया और इसका शिलान्यास 1962 में हुआ था| तारापुर परमाणु ऊर्जा स्टेशन लाल बहादुर शास्त्री की सरकार द्वारा शुरू किया गया पहला परमाणु ऊर्जा संयंत्र है। इसका निर्माण 1961 में शुरू हुआ और 1969 में चालू हुआ। इसने 2019 में ऑपरेशन के 50 साल पूरे किए। यह वाणिज्यिक संचालन (commercial operation) में दुनिया का सबसे पुराना परमाणु ऊर्जा संयंत्र (nuclear power plant) है।

परमाणु ऊर्जा केंद्र पर जानकारी

  • तमिलनाडु में कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र के बाद तारापुर रिएक्टर भारत में दूसरा सबसे शक्तिशाली रिएक्टर है, जिसकी बिजली उत्पादन क्षमता 2,000 मेगावाट है।
  • इसे जनरल इलेक्ट्रिक और बेचटेल द्वारा परमाणु ऊर्जा विभागों के लिए बनाया गया था।
  • हाल ही में, भेल, एलएंडटी और गैमन इंडिया द्वारा 540 मेगावाट की दो दबावयुक्त भारी पानी रिएक्टर (पीएचडब्ल्यूआर) का निर्माण किया गया है।
  • तारापुर परमाणु रिएक्टर सुविधा एनपीसीआईएल (भारतीय परमाणु ऊर्जा निगम) द्वारा संचालित की जाती है।
  • TAPS अमेरिका और नई दिल्ली के सहयोग से बना था। एनपीसीआईएल के अनुसार, 2014 में, तारापुर परमाणु ऊर्जा स्टेशन ने उस वर्ष 31 मार्च तक भारत के कुल परमाणु ऊर्जा उत्पादन का लगभग 28 प्रतिशत हिस्सा लिया है।

Summary

भारत में पहला परमाणु ऊर्जा केंद्र कहाँ स्थापित किया गया था?

तारापुर परमाणु ऊर्जा स्टेशन (T.A.P.S.) भारत में पहला परमाणु ऊर्जा केंद्र है जो महाराष्ट्र के पालघर जिले में स्थापित किया गया है। तारापुर परमाणु ऊर्जा स्टेशन का निर्माण भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका और अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) के बीच 1963 में एक समझौते के तहत किया गया था। 

Related Links:

Comments

write a comment

Follow us for latest updates