भारत के उत्तरी मैदान का वर्णन कीजिए|

By Raj Vimal|Updated : August 31st, 2022

देश की प्रमुख नदियां गंगा, सिन्धु, और ब्रह्मपुत्र नदी द्वारा लाये गए गाद, और अन्य पदार्थों द्वारा भारत के उतरी मैदान का निर्माण हुआ। इनके अलावा इन नदियों की सहायक नदियों के द्वारा भी इसका निर्माण हुआ है। बहाकर लाई गयी मिट्टी मिलकर इस मैदान में जलोढ़ मिट्टी है। यहाँ कि मिट्टी अति उपजाऊ का है, जहाँ के किसानों को इसका फायदा मिलता है।

भारत के उतरी मैदान की संरचना

यह मैदानी क्षेत्र लगभग 7 लाख वर्ग किलोमीटर के बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इसकी लम्बाई पश्चिम से लेकर पूर्व तक 2400 किलोमीटर और इसकी औसत चौड़ाई करीब 300 किलोमीटर है। भारत के उतरी मैदान क्षेत्र की औसत ऊंचाई समुद्रतल से करीब 160 मीटर तक है।

इस क्षेत्र के यहां के प्रमुख राज्यों में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब, आदि आते हैं। यहां रहने वाले लोग अनेक तरह की भाषाएँ बोलते हैं।

Summary

भारत के उत्तरी मैदान का वर्णन कीजिए।

भारत का उतरी मैदान करीब 7,00,000 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। गंगा, सिन्धु और ब्रह्मपुत्र द्वारा लाई गयी मिट्टी से इसका निर्माण हुआ है जो काफी उपजाऊ है।

Comments

write a comment

Follow us for latest updates