अमर का विलोम शब्द क्या होगा?

By Raj Vimal|Updated : August 9th, 2022

अक्सर आपने मह्ग्रंथ पढ़ते समय ध्यान दिया होगा कि भगवान किसी को अमरता का वरदान देते हैं। इस अमरता का अर्थ है, जो कभी न मरे, अर्थात जो सदैव जीवित रहे। जैसे की सूर्य। वहीँ इसका विपरित शब्द है मर्त्य या मरणशील, जिसका अर्थ है, मृत्यु हो जाना।

अमर शब्द का उदहारण

अमर - सूर्य, चंद्रमा और यह सौरमंडल अमर हैं।

मर्त्य - मनुष्य और जानवर मर्त्य हैं, यह कभी न कभी मर जायेंगे।

विलोम शब्द का उपयोग

विलोम शब्द, समान्यत: प्रतियोगी परीक्षाओं में उच्च स्कोर करने का बेहतर तरीका माना जाता है। यह विद्यार्थियों का हिंदी विषय की परीक्षा लेने के लिए होती है। स्टूडेंट्स जितना अधिक विलोम या विपरीतार्थक शब्द याद रखेंगे, उनके पास उतना ही अधिक मौके होंगे अच्छे नम्बर लाने के।

Summary

अमर का विलोम शब्द क्या है?

अमर होने का अर्थ होता है जो कभी ना मरे या जिसकी मृत्यु कभी नही हो सकती। अमर दो शब्दों से मिलकर बना है अ+मर। यहां अ से अर्थ है, नहीं तथा मर का अर्थ मृत्यु से है। अत: अमर का मतलब कभी ना मरने से है। इसका विपरित शब्द है मर्त्य, जिसका अर्थ है मर जाना।

Related Questions

Comments

write a comment

अमर का विलोम शब्द क्या है FAQs

  • अमर शब्द का अर्थ होता है जो कभी न मरे, या जिसकी मृत्यु कभी न हो सके। इसका विपरित शब्द है मर्त्य है। इसका अर्थ होता है जिसकी मृत्यु होगी या जो कभी खत्म होगा।

  • अमर का पर्यायवाची शब्द है वसु, देवता, सुर, देव, आदित्य, लेख।

Follow us for latest updates