खड़ी बोली की प्रथम गद्य रचना किसे माना जाता है?

By Sukrati Saxena|Updated : June 24th, 2022

खड़ी बोली की प्रथम गद्य कवि गंग द्वारा लिखी गई थी। वे हिन्दी के कवि थे। उन्होंने कई वर्षों तक अकबर के दरबार में सेवा की। वे अकबर के दरबारी कवि थे| रहीम खानखाना इन्हें बहुत मानते थे| उनकी जन्म तिथि, मृत्यु तिथि और जन्म स्थान विवादास्पद है। अकबर के राजदरबारी कवी गंग द्वारा लिखित इसरचना में ब्रजभाषा और खड़ी बोली के मिश्रित रूप के दर्शन होते हैं|

उत्तर - खड़ी बोली की प्रथम गद्य, लेखक गंग द्वारा रचित चंद छंद बरनन की महिमा है।

उन्होंने चंद छंद बरनन की महिमा के तहत एक ग्रंथ भी लिखा। कवि गंग का लेखन कुछ लोगों के अनुसार संदिग्ध है क्योंकि जहाँगीर इनकी इसकी रचना से बहुत नाराज़ हुआ और उसे मौत की सजा दी। उसे हाथी से कुचलवा मारे जाने की सजा दी गई थी यह रचना खड़ी बोली गद्य की सबसे प्राचीन रचना है| 

Summary:

खड़ी बोली की प्रथम गद्य कवि गंग द्वारा लिखी गई चंद छंद बरनन की महिमा हैं|यह रचना खड़ी बोली गद्य की सबसे प्राचीन रचना है

Comments

write a comment

Follow us for latest updates